चार वर्ष पूर्व काली मंदिर परिसर में हुई थी शिक्षक हत्या, फरार चल रहा इनामी गिरफ्तार, पत्नी ने अवैध......

पत्नी ने अवैध संबंध के कारण प्रेमी से कराई थी पति की हत्या



जनसंदेश न्यूज

चकिया (चंदौली)। वांछित अपराधियों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत कोतवाल रहमतुल्लाह खां के नेतृत्व में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी। पुलिस ने चार वर्ष पूर्व चकिया नगर के शिक्षक की हत्या में वांछित फरार पुरस्कार घोषित अपराधी रणधीर यादव को बिहार के मोकामा से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। हत्या में शामिल अन्य पांच आरोपी पूर्व से ही जेल की सजा काट रहे। शुक्रवार की दोपहर पुलिस क्षेत्राधिकारी प्रीति त्रिपाठी ने कोतवाली में मामले की जानकारी दी।

नगर के झंडा गली निवासी दासोजी वर्मा के पुत्र राजमनी वर्मा अनुदेशक (शिक्षक) के पद पर नियुक्त थे। उनकी मंगेतर स्नेहलता ने अपने अवैध संबंधों के चलते 18 जनवरी वर्ष 2016 को अपने प्रेमी बिहार प्रांत के पटना जनपद के मोकामा थाना अंतर्गत गोसाई गांव निवासी अमरदीप और उसके साथी मंतोष उर्फ सुबोध, राहुल महतो, पोलू कहार, तथा रणधीर से कांट्रेक्ट किलिंग के तहत मां काली मंदिर पोखरे के बारादरी के पास हत्या कराई थी। 

उक्त मामले में पुलिस ने स्नेहलता सहित पांच आरोपियों को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। छठवां आरोपी रणधीर यादव पुलिस को चकमा देकर फरार चल रहा था। पुलिस ने इसके विरुद्ध आरोप पत्र प्रेषित करते हुए उसे भगोड़ा घोषित करके पांच हजार रुपये पुरस्कार घोषित किया था। कोतवाल रहमतुल्लाह खां ने बताया कि आरोपी रणधीर के विरुद्ध मोकामा थाने में लूट, हत्या, मारपीट, छिनैती, कांट्रेक्ट किलिंग के दर्जनों मुकदमे दर्ज हैं। टीम में मुख्य रूप से एसआई अमीरुद्दीन खां, कांस्टेबल अरुण कुमार वर्मा, कांस्टेबल विनोद कुमार मौजूद रहे।


Popular posts from this blog

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल

साली के प्यार में आकर जीजा ने पत्नी और बेटी की कर दी निर्मम हत्या, 10 साल पहले किया था लव मैरिज

केन्द्र सरकार ने जारी की अनलॉक 5 की गाइडलान, इस तारीख से पूरे देश में खुलेंगे सिनेमा हॉल