परसादपुर में आपस में बांट लिया ‘सरकारी प्रसाद’, ग्राम प्रधान और ब्लॉक मुख्यालय के स्टाफ पर गोलमाल का लगा रहे आरोप

पिंडरा विकास खंड के इस गांव के लोग विकास कार्यों को लेकर हैं नाराज

विकास कार्यों से कोसों दूर रह गया यह गांव, जर्जर सड़क पर पड़े हैं बोल्डर



जनसंदेश न्यूज

बाबतपुर। विकास खंड पिंडरा के ग्राम सभा परसादपुर बयां करता है अपने विकास की अधूरी कहानी। बीते पांच साल गांव की सरकार चलने के बाद कार्यकाल खत्म हो गया। लेकिन यह गांव आज भी अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। विकास से कोसों पीछे छूट चुके इस गांव के लोग सरकारी व्यवस्था पर सवाल खड़े कर रहे हैं।



परसादपुर के ग्रामीणों का आरोप है कि निवर्तमान ग्राम प्रधान और ब्लॉक के कर्मचारियों ने सरकारी पैसों की बंदरबांट कर ली। फलस्वरूप गांव का पर्याप्त विकास नहीं हो सका। विभिन्न योजनाओं में जारी धनराशि मनमाने ढंग से खर्च की गयी। जिससे गांव का डेवलपमेंट प्लान आधी-अधूरा ही रहा। गांव की पिछली सरकार पांच वर्षों में एक पंचायत भवन तक नहीं बना सकी। स्वच्छ भारत मिशन के तहत निर्मित तमाम शौचालय अधूरे रह गए।



एसबीएम के अंतर्गत जो टायलेट पूर्ण दिखाए गये, उनमें से किसी पर टिन की छत, सीमेंट का पतरा आदि लगाकर लाभार्थियों को संतुष्ट कर दिया। दूसरी ओर, गांव में ऐसे गरीब परिवारों की कमी नहीं जिनके अपने आवास नहीं हैं। ऐसे परिवार कच्चे और मिट्टी के घरों व खपरैल के घर में में जीवन-यापन के लिए बाध्य हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि आवास के नाम पर ऐसे परिवारों को अपात्र बता दिया गया।



वहीं, कई लोगों के लिए बनवाये गये आवास मानकों पर खरे नहीं हैं। उधर, वर्षों पूर्व स्वास्थ केंद्र का निर्माण आरंभ तो कराया गया लेकिन वह आज भी पूर्ण होने की बाट जोह रहा है। आधा-अधूरा बनकर पड़ा यह भवन आज तक अपनी बदहाली बयां कर रहा है। इस गांव की उबड़-खाबड़ सड़क आवागमन के लिए समस्या बनी हुई है। मार्ग पर बड़े-बड़े पत्थर बोल्डर पड़े हैं। फलस्वरूप इस रोड पर चलने में लोगों में मशक्कत करनी पड़ती है।



इस रोड पर आवाजाही के दौरान लोग प्राय रू गिरकर घायल होते रहते हैं। परसादपुर में पेयजल की बड़ी समस्या है। गांवों अधिकांश हैंडपंप रिबोर और मरम्मत के लिए तरस रहे हैं। सार्वजनिक स्थान के मंदिर पर स्थापित हैंडपंप लगभग दो साल से खराब है। स्वच्छता का चाक-चैबंद कार्य सिर्फ फाइलों पर चल रहा है। गांव में जगह-जगह पर गंदगी का अंबार और कूड़े-करकट का ढेर लगा है। एक कतार में अधूरे बने पड़े इज्जत घर को उपले और भूसा रखने का भंडारगृह की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। 



सफाईकर्मी नदारद

- पिंडरा ब्लॉक के परसादपुर गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक कामेश्वर प्रसाद ने आरोप लगाया कि कई बार ध्यान दिलाए जाने के बावजूद स्कूल परिसर का खराब पड़ा हैंडपंप निवर्तमान ग्राम प्रधान ने दुरुस्त नहीं कराया। गांव में तैनात सफाईकर्मी कई सप्ताह नदारद रहता है। इस कारण प्रांगण की साफ-सफाई विद्यालय परिवार के सदस्य करते हैं।



जांच टीम आयी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं 

गांव के अंसार अली कहते हैं कि मेरे आवास की मंजूरी थी। लेकिन पता नहीं क्यों बन पाया प्रधान से पांच साल तक कहते रह गया कि मेरा आवास बनवा दो प्रधान हर बार टाल मटोल करते रहे मेरा आवास नहीं बन पाया। 



ग्रामीण ने सुलेखा में आवास न मिलने की शिकायत की। 



गांव के सूरज पटेल का आरोप है कि शौचालय निर्माण में बहुत अनियमितता बरती गई है। मेरे परिवार के लिए शौचालय बनवाने में सफेद बालू और खराब क्वालिटी की ईंट की प्रयोग किया गया है। सोकपिट के लिए दो गड्ढे बनाए गये लेकिन ढक्कन सिर्फ एक ही में लगाया गया है। 



ग्रामीण अरविंद चैबे ने कहा कि परसादपुर में कई विकास कार्यों की गुणवत्ता को लेकर गांववालों ने विकास खंड मुख्यालय में आपत्ति दर्ज करायी थी। उस पर जिला मुख्यालय से जांट टीम भी आयी लेकिन अबतक कोई सकारात्मक पहल नहीं दिखी। विकास कार्यों का पैसा ग्राम प्रधान और ब्लॉककर्मियों ने आपस में बांट लिया।



आरोप गलत, विकास में नहीं छोड़ी कोई कसर: मुन्नर

- बीते पांच साल तक परसादपुर के ग्राम प्रधान रहे मुन्नर ने ग्रामीणों के सभी आरोपों को सिरे ने नकार दिया। उन्होंने दावा किया कि सरकारी पैसे की कोई बंदरबांट नहीं हपई है। हमने गांव के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी। रिबोर योग्य सभी हैंडपंपों को बनवाया जा चुका है। गांव में आवास, शौचालय और खड़ंजा कार्य कराये गये हैं। पंचायत भवन का निर्माण एक माह पहले आरंभ कराये जाने पर ग्रामीणों ने मेरे ही खिलाफ शिकायत कर जांच टीम बुलावा ली। जांच टीम की रिपोर्ट का इंतजार है।

प्रस्तुति: अरविंद कुमार मिश्रा


Popular posts from this blog

यूपी में शादी समारोह में बैंड और डीजे पर भी लगा रोक, जिला प्रशासन से नहीं लेनी होगी अनुमति लेकिन........

करवाचौथ पर नहीं दिलाई 12 हजार की साड़ी तो पत्नी ने शो रूम के अंदर ही पति को जमकर पीटा

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी