UP Bord Exam : ...क्या तीन सौ से अधिक बनेंगे परीक्षा केंद्र? केन्द्रों की तहसील स्तरीय जांच, वीडियोग्राफी, शिक्षा माफियाओं में हड़कंप

डीएम के सख्त तेवर से नकल माफियाओं में हड़कंप

जिलाधिकारी गाजीपुर एमपी सिंह


अजय सिंह उर्फ राजू

गाजीपुर। यूपी बोर्ड परीक्षा केंद्रो में नकल रोकने के लिए केंद्र निर्धारण प्रक्रिया में सरकार सख्त रूख अपनाया है। शासन के आदेशानुसार विभाग बोर्ड परीक्षा केंद्रो का तहसील स्तर पर सत्यापन करा रही है। जिसमें अफसर केंद्र निर्धारण नियमावली के अनुसार सभी बिन्दुओं को बारीकी से परख रहे है। इसके साथ ही कालेजों की वीडियोग्राफी भी करा रहे है।

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट परीक्षा 2021 के लिए करीब पौने दो लाख छात्र पंजीकृत है। कोरोना काल को देखते हुए केंद्रो की संख्या में काफी बढ़ोतरी हो सकती है। जानकारों की माने तो करीब 300 से अधिक केंद्र इस बार जिले में बन सकते है। जिलें में सभी 1017 इंटर कालेजों ने  सूचनाएं अपडेट की हैं। परीक्षा केंद्र निर्धारण के लिए 5 दिसंबर तक यूपी बोर्ड की वेबसाइट पर स्कूलों को उपलब्ध संसाधनों का ब्योरा अपडेट करना था।  वर्ष 2021 की परीक्षा में सम्मिलित होने वाले सभी विद्यालयों ने अपने पिछले वर्ष की सूचनाओं को आवश्यकतानुसार आंशिक रूप से अपडेट किया है। वहीं शासन के निदेर्शानुसार जिलाधिकारी की ओर से टीमें विद्यालयों की सूचनाओं का भौतिक सत्यापन 20 दिसंबर तक करेंगी। सत्यापन रिपोर्ट 26 दिसंबर तक बोर्ड की वेबसाइट पर अपडेट की जाएगी।

एसडीएम की अध्यक्षता में तहसीलों में बनी कमेटी

गाजीपुर। स्कूलों में सुविधाओं का सत्यापन करने के लिए सभी सात तहसीलों में एसडीएम की अध्यक्षता में कमेटी गठित की गई है। निरीक्षण के बाद ये समितियां जिला कमेटी को अपनी रिपोर्ट देंगी। टीम में तहसीलदार, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के सहायक अभियंता सदस्य, जबकि सहायक जिला विद्यालय निरीक्षक या जीआईसी के प्रधानाचार्य को सदस्य सचिव बनाया गया है।

कम से कम 150 और अधिकतम 800 छात्रों का सेंटर बनेगा

गाजीपुर। यूपी बोर्ड परीक्षा में कोविड-19 गाइडलाइन का पालन किया जाएगा। परीक्षा में कम से कम 150 और अधिकतम 800 छात्रों का सेंटर बनाया जाएगा। कोरोना वायरस के चलते प्रत्येक विद्यार्थी के लिए 36 वर्ग फीट का क्षेत्रफल तय किया गया है। वहीं जिलें में राजकीय व एडेड 79 तथा वित्तविहीन 938 कालेज है।   

16 जनवरी तक आपत्तियां व शिकायतें ली जाएंगी

गाजीपुर। 26 दिसंबर तक जिला समिति भौतिक सत्यापन की रिपोर्ट यूपी बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड करना है। 11 जनवरी तक सूचना और रिपोर्ट के आधार पर केंद्रों का आॅनलाइन चयन कर जिला समिति के निरीक्षण रिपोर्ट की अपलोड होगा। 16 जनवरी तक परीक्षा केंद्रो को लेकर आपत्तियां व शिकायतें ली जाएंगी। 25 जनवरी तक डीआईओएस कार्यालय आपत्तियों का परीक्षण व निस्तारण की सूचना वेबसाइट पर अपलोड कर देगी। इसके बाद 31 जनवरी तक आपत्तियों को परीक्षण की रिपोर्ट की जांच डीएम व उनकी कमेटी करेगी।

9 फरवरी को जारी होगी अंतिम सूची

गाजीपुर। 4 फरवरी तक छात्र व प्रधानाचार्य प्रबंधक के प्रत्यावेदन व आपत्तियों के निराकरण के बाद कोई आपत्ति होगी तो ली जाएगी इसके बाद 9 फरवरी तक जिला समिति के अनुमोदन पर केंद्र निर्धारण समिति ईमेल आईडी पर निर्धारित तिथि तक आपत्तियों का परीक्षण कर अंतिम सूची वेबसाइट पर जारी करेगी ।


Popular posts from this blog

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल

साली के प्यार में आकर जीजा ने पत्नी और बेटी की कर दी निर्मम हत्या, 10 साल पहले किया था लव मैरिज

केन्द्र सरकार ने जारी की अनलॉक 5 की गाइडलान, इस तारीख से पूरे देश में खुलेंगे सिनेमा हॉल