झूंसी थाने के हिस्ट्रीशीटर अपराधी गणेश यादव का अवैध मकान, पीडीए ने किया ध्वस्त

कार्रवाई के दौरान 5 थानों की फोर्स रही मौजूद, झूसी के हवेलिया में मची रही अफरा-तफरी



अनूप मिश्रा

झूंसी/प्रयागराज। प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने झूंसी में हिस्ट्रीशीटर गणेश यादव के अवैध ढंग से बने मकान को ढहाने की कार्रवाई शुरू की। पीडीए का दस्ता दोपहर में हवेलिया गांव पहुंचा। इसके बाद जेसीबी से अवैध मकान को ध्वस्त करने का काम शुरू किया गया। कुछ लोगों ने विरोध का प्रयास किया तो पुलिस बल ने उन्हें खदेड़ दिया। गणेश की पत्नी ने तो पीडीए के जोनल अधिकारी से हाथापाई कर ली। किसी तरह पुलिस ने उसे काबू में किया। 

गणेश यादव पर 10 संगीन आपराधिक मुकदमे हैं। उसके खिलाफ झूंसी के साथ ही सराय इनायत में भी मुकदमे दर्ज हैं। वह जमीन की खरीद फरोख्त के अलावा पीडीए में कुछ साल पहले तक ठीकेदारी भी करता रहा है। पीडीए ने पिछले दिनों झूंसी के हवेलिया में बने उसके मकान को अवैध घोषित कर नोटिस भेजा था।

 शनिवार दोपहर करीब बारह बजे पीडीए की टीम तकरीबन पंद्रह सौ वर्ग गज में बने मकान को जेसीबी से ढहाने पहुंच गई। इस दो मंजिला मकान को बिना नक्शा पास कराए बनाया गया था। आलोक पांडेय, सत शुक्ला और शिवानी सिंह की अगुवाई में पीडीए की टीम पहुंची तो गणेश के परिवार के लोगों और करीबियों ने विरोध कर दिया। गणेश के बेटे रवि यादव ने कहा कि बिना नोटिस भेजे यह कार्रवाई की जा रही है। गणेश की पत्नी ने जोनल अधिकारी शिवानी सिंह पर हमला भी कर दिया। उनसे हाथापाई और खींचतान की। पुलिस ने उसे काबू में किया। इसके बाद घंटे भर में घर से सामान निकालने का मौका देकर जेसीबी से ध्वस्तीकरण शुरू किया गया।  

पिछले कई महीने से प्रयागराज में माफिया के खिलाफ आपरेशन जारी है। इसी के तहत पुलिस बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद, उनके भाई पूर्व विधायक अशरफ के साथ ही ज्ञानपुर के विधायक विजय मिश्र, औद्योगिक क्षेत्र में पूर्व ब्लाक प्रमुख चाका दिलीप मिश्र, जाबिर, अब्बास, जैद समेत कई लोगों के बिना नक्सा पास कराए निर्मित मकानों, लॉज, मार्केट को ढहाया है। दो दिन पहले बमरौली में आबिद प्रधान, फरहान, अकबर के भी मकान तोड़े जा चुके हैं। पीडीए और प्रशासन द्वारा अभी कई और लोगों के अवैध निर्माण तोड़ने की तैयारी है।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल