स्वास्थ्य कर्मियों के आवास पर पुलिस का अवैध कब्जा! सीएमएस ने सीएमओ से लगाई न्याय की गुहार



अजय सिंह उर्फ राजू

कंरडा/गाजीपुर। स्वास्थ्य केंद्र परिसर में कर्मचारियों के लिए बनाए गए आवासों पर अवैध कब्जा हो गया है। यह अवैध कब्जा कुछ पुलिसकर्मियों ने किया है। यह पुलिसकर्मी वें हैं जिनका स्वास्थ्य विभाग से कोई सरोकार नहीं है। इन कब्जाधारियों को प्रभारी चिकित्साधिकारी ने नोटिस देकर आवास खाली करने का अल्टीमेटम दिया था। कब्जाधारी पुलिसकर्मियों ने उन नोटिसों को हवा में उड़ा दिया है। जिससे स्वास्थ्य कर्मचारियों को वहां रहने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं चिकित्सा अधिकारी ने संबंधित उच्च अधिकारियों से इस मामले को लेकर लिखित शिकायत किया है। लेकिन अधिकारियों ने इस तरफ ध्यान नहीं दिया।

करंडा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर थाने पर तैनात पुलिस कर्मियों ने कई वर्षों से तीन कमरों पर कब्जा किए हुए है। जिसको खाली कराने को लेकर चिकित्साधिकारी काफी परेशान है। वह अपने कर्मचारियों व हास्पिटल की व्यवस्था को सही करने के लिए काफी समय से प्रयासरत है। ताकि मरीजों का समुचित इलाज यहां कराया जा सके। सरकार की योजनाओं को आसानी से लाभार्थियों तक पहुंचाया जा सके।    

चिकित्सा अधिकारी मनोज चैरसिया ने इसकी शिकायत थानाध्यक्ष करंडा सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से मौखिक और लिखित शिकायत कर चुके है। लेकिन पुलिस कर्मियों पर पुलिस विभाग के तरफ से कोई एक्शन नहीं लिया गया। ऐसे में स्वास्थ्य कर्मियों को अपनी डयूटी करने में काफी परेशानी होती है। अधिकतर गैर जनपद के तैनात स्वास्थ्य कर्मी मकान की तलाश में इधर उधर भटक रहे है। इस मामले में थानाध्यक्ष  अजय कुमार पांडेय ने बताया कि डा. मनोज चैरसिया ने लिखित शिकायत किया है। उन्होंने माना कि स्वास्थ्य केंद्र की बिल्डिंग में सिपाही रह रहे है। वहीं बताया कि सिपाहियों को कैम्पस खाली करने के लिए निर्देश दिया गया है।

 

Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल