किसानों के समर्थन में शुरू हुई अवार्ड वापसी, पूर्व सीएम सहित दो लोगों ने लौटाया पद्म सम्मान



जनसंदेश न्यूज़

नई दिल्ली। नये कृषि कानूनों को लेकर अभी तक किसानों और सरकार के बीच बात नहीं बन पाई है। किसान अपनी मांगों पर लेकर अड़े हुए है। वहीं दूसरी तरफ अब किसानों के समर्थन में अवार्ड वापसी भी शुरू हो गई है। पंजाब के पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल ने इस कानून को ‘भारत सरकार द्वारा किसानों के साथ विश्वासघात’ करने का आरोप लगाते हुए किसान आंदोलन के समर्थन में पद्म विभूषण लौटा दिया है। अकाली दल के नेता रहे सुखदेव सिंह ढींढसा ने भी अपना पद्म भूषण सम्मान लौटाने की बात कही है।

आंदोलन के दौरान किसानों के साथ हिंसा पर विरोध दर्ज कराते हुए प्रकाश सिंह बादल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को करीब तीन पन्ने की चिट्ठी लिखी और किसानों पर एक्शन की निंदा की। 

बता दें किसान और सरकार के बीच बातचीत जारी है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मीटिंग की शुरुआत में ही किसानों ने एमएसपी की गारंटी के लिए कानून बनाने की शर्त रख दी है। बैठक में किसानों से कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और रेल मंत्री पीयूष गोयल मौजूद हैं।


Popular posts from this blog

यूपी में शादी समारोह में बैंड और डीजे पर भी लगा रोक, जिला प्रशासन से नहीं लेनी होगी अनुमति लेकिन........

करवाचौथ पर नहीं दिलाई 12 हजार की साड़ी तो पत्नी ने शो रूम के अंदर ही पति को जमकर पीटा

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी