सोनभद्र में व्यावसायिक प्रतिर्स्‍पधा के कारण हुई सपा नेता रामभुवन की हत्या, दो गिरफ्तार

सदर कोतवाली क्षेत्र के उरमौरा गांव के समीप वाहन के सहारे सड़क पर  पड़ा मिला था शव 

स्वाट, एसओजी व कोतवाली पुलिस ने 36 घंटे के अंदर आरोपियों को किया गिरफ्तार

आरोपियों के पास से हत्याकांड में प्रयुक्त पिस्टल, कारतूस व स्कार्पियो बरामद



जनसंदेश न्यूज

सोनभद्र। सदर कोतवाली क्षेत्र के उरमौरा स्थित वाराणसी-शक्तिनगर मार्ग के समीप सपा कार्यकर्ता रामभुवन यादव की गोली मारकर हुई हत्या मामले का पुलिस ने 36 घंटे के भीतर खुलासा कर दिया। पुलिस ने हत्या में शामिल दो आरोपितों को गिरफ्तार करते हुए आरोपियों के कब्जे से हत्या में प्रयुक्त पिस्टल, स्कार्पियों वाहन, एक खोखा कारतूस, दो अदद जिंदा कारतूस भी बरामद करने का दावा किया है। 

सदर कोतवाली परिसर में बुधवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में मामले का खुलासा करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक मुख्यालय ओपी सिंह ने बताया कि व्यवसायिक प्रतिर्स्पधा को लेकर रामभुवन की हत्या हुई थी। एएसपी ने बताया कि रामभुवन की हत्या पुलिस के लिए चुनौती थी। हत्याकांड के अनावरण के लिए सीओ सीटी की निगरानी में स्वाट, एसओजी, सर्विलांस व थाना रावर्ट्सगंज पुलिस कारे लगाया था। 

पुलिस की संयुक्त टीम ने सुबह हिंदुआरी तिराहे के पास से संजय परिहार पुत्र राजेंद्र प्रताप सिंह निवासी वार्ड नम्बर 16 घोरावल रोड पुराना बस अड्डा रावर्ट्सगंज तथा शिवम केशरी पुत्र लक्ष्मण प्रसाद केशरी निवासी उरमौरा रावर्ट्सगंज को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से हत्या में प्रयुक्त पिस्टल, स्कार्पियों वाहन, एक खोखा कारतूस, दो अदद जिंदा कारतूस बरामद किया। पूछताछ में दोनों ने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है। 

बता दें कि सदर कोतवाली क्षेत्र अर्न्तगत उरमौरा में 14/15 दिसंबर की रात हमलावरों ने मऊ जिले के सरायलखंसी थाना क्षेत्र के बड़ा गांव निवासी रामभुवन यादव 40 पुत्र नन्हक यादव की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उसका शव उसी की लग्जरी गाड़ी के सहारे मृत अवस्था में पड़ा मिला था। उस दौरान रामभुवन अपने निजी वाहन से सिंगरौली से सोनभद्र आ रहा था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने प्रथम दृष्टया तो अज्ञात कारणों से मौत समझ कर शव को पीएम हाउस भेज दिया लेकिन सुबह कपड़ा हटाकर देखा गया तो उसके सीने पर दो गोलियां लगने के निशान पाए गए थे। 

हत्याकांड का अनावरण करने वाली पुलिस टीम में ये रहे शामिल

सोनभद्र। रामभुवन हत्याकांड का खुलासा करने के लिए पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर कई टीमों का गठन किया गया था। टीम में सदर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अंजनी राय, स्वाट टीम प्रभारी प्रदीप सिंह, सर्विलांस सेल प्रभारी सरोजमा सिंह, एसओजी प्रभारी अमित त्रिपाठी, उपनिरीक्षक नरेंद्र राय, हेड कांस्टेबल अरविंद सिंह, जगदीश मौर्या, कास्टेबल हरिकेश यादव, रितेश पटेल, जितेंद्र यादव, सौरभ राय, दिलीप कश्यप, अमित सिंह, प्रकाश सिंह, रविकांत सरोज, अभिषेक पांडेय, शैलेश कुमार शामिल रहे। पुलिस अधीक्षक ने हत्याकांड का खुलासा करने वाली टीम को नगद पुरस्कार देने की घोषणा किया है।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल