चंदौली में मनोज डब्लू समेत किसी भी सपाई को नहीं मिली रिहाई, अभी जेल में ही रहेंगे सपा के राष्ट्रीय सचिव



जनसंदेश न्यूज़

चंदौली। किसान आंदोलन के दौरान बिछियां धरना स्थल से हिरासत में लिए गए सपा के राष्ट्रीय सचिव मनोज कुमार सिंह डब्लू को जमानत नहीं मिली। अब उन्हें कुछ और दिन न्यायिक हिरासत में ही गुजारने होंगे। उनकी गिरफ्तारी के बाद मनोज समर्थक व उनके विधिक सलाहकार जमानत को लेकर पूरे दिन भाग-दौड़ करते रहे। बावजूद इसके किंचित कारणों से सपा के राष्ट्रीय सचिव को जमानत नहीं मिल सकी। प्रशासनिक सूत्र बताते हैं कि सम्पूर्ण समाधान दिवस होने के कारण मनोज सिंह डब्लू की जमानत याचिका एसडीएम न्यायालय में प्रस्तुत नहीं हो पायी। हालांकि मनोज सिंह डब्लू के विधिक सलाहकारों की टीम ने पूरे दिन शिद्दत के साथ जी-तोड़ मेहनत की। 

विदित हो कि बीते सोमवार किसान आंदोलन के समर्थन में बिछियां धरनास्थल पर आंदोलन व सभा करने पर वहां तैनात फोर्स के बल पर पुलिस अफसरों ने समर्थकों संग सपा के राष्ट्रीय सचिव मनोज सिंह डब्लू को हिरासत में ले लिया। हालांकि पूरे दिन मनोज को शाम को रिहा करने की बात कहकर बबुरी थाने में बैठाया गया। उधर, मनोज की रिहाई व न्यायिक हिरासत में लेने को लेकर पुलिस-प्रशासनिक अफसरों ने बैठक में गहन चिंतन-मंथन किया। 

अंततः देर शाम पुलिस बबुरी थाने से चकिया संयुक्त जिला चिकित्सालय ले जाकर सपा के राष्ट्रीय सचिव व पांच अन्य समर्थकों का मेडिकल मुआयना कर जेल भेजने की कार्यवाही में जुट गयी। पुलिस ने कड़ी सुरक्षा के बीच मनोज सिंह डब्लू को न्यायिक हिरासत में भेजा। उम्मीद थी कि मंगलवार को मनोज समेत सभी सपाई रिहा कर दिए जाएंगे। लेकिन उनकी रिहाई में प्रशासनिक व कागजी कार्यवाही आड़े आए। मनोज के विधिक सलाहकारों ने बताया कि एसडीएम सदर विजय नारायण सिंह समाधान दिवस होने के कारण निर्धारित समयावधि में अपने कोर्ट की बजाय सदर तहसील सभागार में मौजूद रहे। 

ऐसी स्थिति में रिहाई संबंधित पत्रावलियां एसडीएम कोर्ट में प्रस्तुत नहीं हो सकी। हालांकि एसडीएम सदर विजय नारायण ने बताया कि सपा नेता मनोज सिंह डब्लू की रिहाई से जुड़ी किसी तरह की प्रार्थना-पत्र उनके समक्ष प्रस्तुत नहीं की गयी। इस तरह पैदा हुईं किंचित परिस्थितियों के कारण जिला कारागार वाराणसी में निरूद्ध चल रहे सपाइयों को रिहाई के लिए अभी और इंतजार करना पड़ेगा। 

साइलेंट मोड पर रही समाजवादी पार्टी 

चंदौली। सपा के राष्ट्रीय सचिव मनोज सिंह डब्लू समेत जिले के आधा दर्जन सपाई किसान आंदोलन के चलते जिला कारागार में निरूद्ध चल रहे हैं। लेकिन मंगलवार को जनपद का एक भी समाजवादी चेहरा उनके समर्थन में आगे नहीं आया। यहां तक कि समाजवादी पार्टी के जिला इकाई के किसी भी पदाधिकारी या फिर जनप्रतिनिधियों ने पुलिस-प्रशासन से मुलाकात कर उनकी रिहाई की बात तक नहीं रखी। ना ही किसी अन्य माध्यम से उन्हें छोड़ने की मांग समाजवादी पार्टी की ओर से की गयी। आंदोलन के बाद अचानक सपा के साइलेंट मोड़ पर आने को लेकर पूरे दिन चर्चा का बाजार गर्म रहा।





Popular posts from this blog

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल

साली के प्यार में आकर जीजा ने पत्नी और बेटी की कर दी निर्मम हत्या, 10 साल पहले किया था लव मैरिज

केन्द्र सरकार ने जारी की अनलॉक 5 की गाइडलान, इस तारीख से पूरे देश में खुलेंगे सिनेमा हॉल