बनारस के एक्टिविस्ट अजीत सिंह को ‘जनरस फिलेनथ्रोपिस्ट अवार्ड’

महिलाओं को दशकों से देह व्यापार के दलदल से निकालने वाली गुड़िया संस्था के संस्थापक हैं अजित



जनसंदेश न्यूज़

वाराणसी। जाने-माने एक्टिविस्ट एवं गुड़िया संस्था के संस्थापक अजीत सिंह को 21वें सेंचुरी आइकन अवार्ड-2020 में ‘जनरस फिलेनथ्रोपिस्ट अवार्ड’ से नवाजा गया है। पूर्वांचल में पहली बार किसी शख्स को इस कैटेगरी का विजेता घोषित किया गया है। इस प्रतिष्ठित विजेताओं के नाम का ऐलान गुरुवार की रात होलबोर्न-लंदन से किया गया। इस अवार्ड के विजेताओं में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर क्रिस गेल, संगीतकार एवं गायक शंकर महादेवन, डाबर इंडिया के उपाध्यक्ष मोहित बर्मन, माउंटेनियर व एडवेंचर्स ताशी और नुंसी मलिक शामिल हैं।

एक्टिविस्ट अजीत सिंह ने दशकों पहले महिलाओं को देह व्यापार से मुक्त कराने के लिए मुहिम छेड़ी थी। इनकी संस्था गुड़िया देश भर में महिलाओं के उत्थान, तरक्की और उनकी शिक्षा-रोजगार के लिए काम करती है। साथ ही देह व्यापार में लगी महिलाओं के बच्चों को शिक्षित कर इस दलदल से निकालने के लिए सालों से एक बड़ी मुहिम चला रही है। 21वें सेंचुरी आइकन अवार्ड-2020 के लिए इनके नाम की घोषणा से उत्तर भारत के तमाम समाजसेवियों, पत्रकारों और कलाकारों ने इन्हें बधाई दी है।

पिछले कई वर्षों से कई अन्य देशों जैसे मारिशियस, इटली, जापान, जर्मनी, साइप्रस, जर्मनी, साइप्रस, नीदरलैंड, यूएई, फिनलैंड, दक्षिण कोरिया, उगांडा, तनजांनिया, कोन्गो, घाना, नामिबिया, माडागास्कर, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, ट्रीनीडाड एंड टोबैगो, कुवैत, चीन, श्रीलंका, इजीप्ट, रवांडा, नाईजीरिया, ईथीओपिया, सुडान, माली, रूस, आस्ट्रीया, साउदी अरबिया, कतर, लिंबया, केन्या, रोमानिया आदि से भी विभिन्न अन्र्तराष्ट्रीय हस्तियों को भी इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। 

जनरस फिलेनोथ्रोपिस्ट अवार्ड पुरस्कार किसी ऐसे व्यक्ति के लिए है जो दूसरे के कल्याण को बढ़ावा देना चाहते है। प्रमुख रूप से अच्छे कारणों के लिए समय, प्रयास व धन के उदार दान के माध्यम से या कोई ऐसा हो जिसने भविष्य की पीढ़ियों की अपनी जरूरतों की पूरा करने की क्षमता को बनाये रखते हुए मानव विकास के लक्ष्य हेतु अथक परिश्रम किया हो चाहे वह स्थायी पोषण, पर्यावरण, शिक्षा, स्वास्थ्य आदि ला रहा हो। 



Popular posts from this blog

यूपी में शादी समारोह में बैंड और डीजे पर भी लगा रोक, जिला प्रशासन से नहीं लेनी होगी अनुमति लेकिन........

करवाचौथ पर नहीं दिलाई 12 हजार की साड़ी तो पत्नी ने शो रूम के अंदर ही पति को जमकर पीटा

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी