प्रभु यीशु जन्मे, मसीही समाज में खुशी की लहर, विशप ने दिया शांति व भाईचारे का संदेश

कोरोना के चलते रात्रि 9 बजे ही हो गया कार्यक्रम



जनसंदेश न्यूज़

फोटो-शंकर चतुर्वेदी

वाराणसी। मसीही समाज के प्रमुख पर्व क्रिसमस की पूर्व संध्या पर गुरुवार को सायंकाल 7.30 बजे शुरुआत हो गई। शहर के सभी चर्चों में मिड नाइट सर्विस का आयोजन कोरोना के चलते रात्रि नौ बजे ही कर दिया गया। मसीही गीतों के बीच प्रभु यीशु का जन्म हुआ। प्रभु यीशु के आगमन की खुशी में प्रार्थनाएं भी गूंजी। 25 दिसम्बर की सुबह नगर के सभी चर्चों में प्रार्थना सभाएं होंगी। सेंट मेरीज चर्च कैंटोमेंट में विशप फादर यूजिन जोसफ ने प्रभु यीशु के जन्म पर शांति प्यार भाईचारे का बधाई संदेश दिया। 



कहा कि हमारे पुकारने पर मुक्तिदाता, परामर्शदाता हमारे बीच जल्दी आइए। सन्देश हुआ कि अंधकार में भटकने वालों के लिए प्रकाश के रूप में हमारे बीच प्रभु आया है। हमारी आशाओं को पूरा करने वाला राजा अब हमारे बीच आ गया है। आप सबको बधाई। यह ऐतिहासिक सन्देश हमारे बीच है। हम एक दूसरे से दूर हो रहे थे। दो हजार पूर्व जो विकट समय था आज भी वही दिख रहा है। आज हम महामारी से जूझ रहे हैं। हमें उम्मीद के साथ सबके साथ मिलकर आगे बढ़े। 



हमें अपने अंदर उम्मीद जगाना है राष्ट्रीय रूप में भटक गए हैं। एक दूसरे से शत्रुता रखने लगे हैं। पवित्रता दीनता दयालुता को छोड़ कर भटक गए हैं। प्रभु हमको आशीष देती है कि हम अपने आचरण,व्यवहार में जागृति पैदा कर आगे बढ़ें।सारे वैज्ञानिक मानते हैं कि यह महामारी हमारे द्वारा बनाया गया हैं। महामारी हमें प्रेरित करता है कि ईश्वर पर भरोसा रखो वही सर्वशक्तिमान हैं। हमे मिलकर सबके लिए मन वचन व्यवहार कर्म से मदद करने के लिए आगे बढ़ना है। एक मुक्तदाता के रूप में यीशु का जन्म हुआ है। 



उधर, मसीही समाज के घरों में क्रिसमस के आने का उत्साह दिखायी पड़ा। कई जगहों पर चर्चों को सजाया गया था। परिधानों की खरीदारी के अलावा खानपान की तैयारियां देर रात तक चलती रही। मसीही समाज के लोगों का कहना है कि परमेश्वर अपने भक्तों का कोरोना से रक्षा करने के साथ ही इस महामारी को जड़ से खत्म करेंगे। 



जैपुरिया बाबतपुर में क्रिसमस उत्सव आयोजित

वाराणसी। सेठ एमआर जैपुरिया स्कूल्स के बाबतपुर कैम्पस में क्रिसमस उत्सव का वर्चुअल आयोजन 24 दिसम्बर 2020 को किया गया। इस आयोजन में नन्हें-मुन्ने छात्र-छात्राओं ने सेंटाक्लॉज और मैरी मरियम का रूप धारण किया। क्रिसमस पर्व पर आधारित विभिन्न दृश्यों का मंचन, जिंगल बेल व क्विज का भी आयोजन सम्पन्न हुआ। 



स्कूल की प्रधानाचार्या श्रीमती सुधा सिंह के नेतृत्व में आयोजित इस उत्सव में छात्र-छात्राओं को प्रभु यीशु के उपदेशों व उनका जीवन वृतांत आॅनलाइन प्रेजेन्टेशन के माध्यम से दिखाया गया। जिसमें विद्यालय के शिक्षक गौरव विश्वकर्मा, रॉबिन श्रीवास्तव, आर्ची श्रीवास्तव व वारिसा फातिमा व विद्यालय के स्नेह सिंह, सोमांच प्रताप, कुंज प्रताप, रूद्रम शर्मा, सुजल सिंह, माधव शर्मा व अन्य लोग मौजूद थे। स्कूल के चेयरमैन दीपक कुमार बजाज ने छात्र-छात्राओं को क्रिसमस पर्व की बधाई दी। स्कूल के प्रबंध निदेशक मनोज बजाज, अधिशासी निदेशक श्यामसुंदर बजाज, निदेशक अनिल के. जाजोदिया, नरेन्द्र पांडेय ने क्रिसमस पर्व की शुभकामनाएं दी।




Popular posts from this blog

यूपी में शादी समारोह में बैंड और डीजे पर भी लगा रोक, जिला प्रशासन से नहीं लेनी होगी अनुमति लेकिन........

करवाचौथ पर नहीं दिलाई 12 हजार की साड़ी तो पत्नी ने शो रूम के अंदर ही पति को जमकर पीटा

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी