सपाइयों ने गांवों में डाला डेरा, किसानों संग चौपाल, बोले, कार्पोरेट जगत की कठपुतली बन गई है सरकार



जनसंदेश न्यूज़

वाराणसी। समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव के निर्देश शुक्रवार को कृषि बिल के खिलाफ सपाइयों ने गांवों में समाजवादी किसान घेरा कार्यक्रम के तहत डेरा डालकर अलाव तापते हुए कृषि बिल से होने वाले सम्भावित नुकसान की चर्चा करते रहे हैं। शुक्रवार शाम को विकास खण्ड मुस्तफाबाद, अम्बा, उकथी, उमरहा, पँचराव, गोबरहा, शिवदशा, रैमला, कमौली, छाही,गौरकला सहित दर्जनों गांवों में समाजवादी घेरा कार्यक्रम तहत किसानों की चैपाल लगाई गई। 

कृषि बिल पर चर्चा करते हुए वरिष्ठ राधाकृष्ण उर्फ सजंय यादव ने कहा कि एमएसपी को कानूनी रूप देना बड़ा छलावा है। श्री यादव ने कहा कि सरकार ने धान का समर्थन मूल्य 18 68 रुपये प्रति कुंतल तय किया है।जो सरकारी धान क्रय केंद्रों पर ही मिल पा रहा है। जबकि गांवो में बनिया व व्यापारी खुलेआम 1100 से1200 रुपये खरीद रहा है। क्रय केंद्रों पर सत्ताधारी दल के नेताओं विचैलियों का कब्जा बना हुआ है जिससे छोटे मझोले किसान सरकारी क्रय केंद्रों धान नहीं बेच पा रहा है। 

वहीं सपा नेता एनपी जयसवाल ने बताया कि कृषि बिल में भण्डारण की छमता बढ़ा दी गई है।जिससे कारपोरेट घरानों का ही फायदा होगा। सरकारी मण्डियों को खत्म करने की नीयत से सरकारी मण्डियों के सापेक्ष प्राइवेट मण्डियों को खोला जाएगा। वर्तमान सरकार की नीयत किसानों के प्रति पहले से नकारात्मक है।इसका प्रमाण यह है कि योगी सरकार सत्ता में आते ही पुर्वर्ती सपा सरकार द्वारा फसलों पर मिलने वाला कृषकों का बोनस बन्द कर दिया। 

इसके अलावा मुस्तफाबाद रेता पर चैपाल में जिला उपाध्यक्ष सजंय मिश्र ने कहा कि वर्तमान सरकार अडानी अम्बानी के इशारे पर तीन कृषि बिल लाकर किसानों को मजदूर बनाना चाहती है।जिसे कभी भी समाजवादी पार्टी वर्तमान सरकार के मंसूबे पूरा नहीं होने देगी। वहीं ब्लॉक अध्यक्ष प्यारे लाल यादव ने बताया कि तीनों कृषि बिल जीवो सिम की तरह है। जैसे उसने बीएसएनएल दूरसंचार को खत्म करने के लिए एक वर्ष तक फोर जी मुफ्त में चलाया। अब जीवो रिलायंस अपने हिसाब से रेट तय कर रही है।ठीक उसी तरह कृषि बिल लाया गया जो किसानों के हित में नहीं है। 

कार्यक्रम में मुख्य रूप से विधानसभा अध्यक्ष दया यादव, रामधारी, अक्षय कुमार बबलू प्रधान ,अमित कुमार दुबे, शैलेन्द्र,खरपत्तू,किसान बद्री नरायन, रामबृक्ष शाहनी,चितरु शाहनी,गुलाब, सूबेदार, रामस्वरूप छोटेलाल, गोरख, साहब यादव, सुनील नेता, रमेश, पुष्पराज सिंह,सजंय पाठक, सुबास सोनकर, सत्येन्द्र यादव सहित अन्य सपा नेता कार्यकर्ता व किसान उपस्थित रहे।


Popular posts from this blog

यूपी में शादी समारोह में बैंड और डीजे पर भी लगा रोक, जिला प्रशासन से नहीं लेनी होगी अनुमति लेकिन........

करवाचौथ पर नहीं दिलाई 12 हजार की साड़ी तो पत्नी ने शो रूम के अंदर ही पति को जमकर पीटा

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी