आजमगढ़ के इन दो पुलिसकर्मियों ने बढ़ाया मान, प्रदेश में एक दूसरा तो दूसरे ने पाया चौथा स्थान

मिला प्रशस्ति पत्र, दी जायेगी निःशुल्क ट्रेनिंग



जनसंदेश न्यूज़

आजमगढ़। साइवर क्वेश्चन टेस्ट में जनपद पुलिस के दो कर्मचारियों ने टाप-12 में जगह बनायी। सभी 12 पुलिस कर्मियों को प्रशस्ति पत्र दिया गया साथ ही चार माह निःशुल्क प्रशिक्षण दिया जायेगा।

प्रो0 त्रिवेणी सिंह, आईपीएस पुलिस अधीक्षक साइबर क्राइम उत्तर प्रदेश के निर्देशन में रूट 64 इंफोसिस रिसर्च फाउण्डेशन द्वारा पांच दिसम्बर को आयोजित किये गये साइबर क्वेश्चन टेस्ट में जनपद पुलिस के 2 कर्मचारियों द्वारा टाप 12 में जगह बनायी गयी। उत्तर प्रदेश पुलिस में नियुक्त अधिकारियों, कर्मचारियों की साइबर क्राइम इन्वेस्टीगेशन में तकनीकी दक्षता की परीक्षा हेतु आनलाइन परीक्षा आयोजित की गयी। 

परीक्षा में जनपद के 2 कर्मचारियों ने टाप 12 में जगह बनायी। जनपद के सीसीटीएनएस सेल में नियुक्त कम्प्यूटर आपरेटर आशीष पाण्डेय द्वारा जहां प्रदेश में दूसरा स्थान प्राप्त किया गया। वहीं साइबर सेल में नियुक्त आरक्षी मनीष सिंह द्वारा प्रदेश में चैथा स्थान प्राप्त किया गया। पुलिस अधीक्षक साइबर क्राइम प्रो0 त्रिवेणी सिंह एवं फाउंडेशन के चीफ मेंटर अमित दूबे ने इस उपलब्धि पर बधाई दी। उन्होंने बताया कि टाप 12 में आये सभी कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र एवं फाउंडेशन द्वारा 4 माह की निःशुल्क ट्रेनिंग प्रदान की जायेगी। 



Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल