मीरजापुर में तीन मासूमों की हत्याकांड का एसआईटी करेगी जांच, बंधी में मिला था शव, आंखे भी निकाली



जनसंदेश न्यूज़

मीरजापुर। जनपद में तीन मासूमों की नृशंस हत्याकांड के बाद एडीजी जोन ब्रज भूषण ने एसआईटी जांच का आदेश दिया है। जांच के लिए उन्होंने एसआईटी टीम का गठन भी कर दिया है। अपर पुलिस अधीक्षक नक्सल के नेतृत्व में गठित एसआईटी टीम इस पूरे मामले की जांच करेगी। 

आपको बता दें कि लालगंज थाना क्षेत्र के बामी गांव निवासी कक्षा आठ के छात्र शशांक तिवारी (14) पुत्र राकेश तिवारी, शिवम (14) पुत्र राजेश तिवारी, हरिओम (14) पुत्र मुन्ना तिवारी की बुधवार को जंगल गये लेकिन वें लापता हो गये। परिजनों व पुलिस ने खोजबीन की तो बुधवार की दोपहर बाद तीनों के कपड़े विंध्याचल थाना क्षेत्र के लेहड़िया जंगल की बंधी के भीटे पर मिले। परिजनों ने पुलिस की मदद से बंधी में खोजबीन की तो तीनों के शव बरामद हो गए। बच्चों के गले में चोट के निशान देखकर परिजनों ने हत्या की आशंका जताई थी। 



पहले पुलिस तीनों की डूबने से मौत बता रही थी। लेकिन परिजनों के आक्रोश और चक्काजाम के बाद पुलिस पोस्टमार्टम के लिए तैयार हुई। बुधवार देर रात से गुरुवार की सुबह तक चले पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला कि डूबने से मौत नहीं हुई है। बच्चों की आंखें निकाल ली गई थी। वहीं गले पर धारदार हथियार से चोट के निशान मिले। इससे हत्या की पुष्टि हो गई। दो डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमार्टम किया और इसकी वीडियोग्राफी भी कराई गई।  

गुरुवार को एडीजी जोन वाराणसी ब्रज भूषण, आईजी पीयूष श्रीवास्तव, जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल व पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद किशोरों के परिजनों से मुलाकात की।


Popular posts from this blog

यूपी में शादी समारोह में बैंड और डीजे पर भी लगा रोक, जिला प्रशासन से नहीं लेनी होगी अनुमति लेकिन........

करवाचौथ पर नहीं दिलाई 12 हजार की साड़ी तो पत्नी ने शो रूम के अंदर ही पति को जमकर पीटा

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी