एनएपीएम राज्य संयोजक सुरेश राठौर और पूकियू के योगीराज दोबारा हुए हाउस अरेस्ट, सामाजिक संगठनों ने की निंदा



जनसंदेश न्यूज़

वाराणसी। किसानों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन ने बीते आठ दिसंबर को मनरेगा मजदूर यूनियन के सुरेश राठौर व पूर्वांचल किसान यूनियन के अध्यक्ष योगीराज सिंह पटेल को घर पर ही नजरबंद कर दिया था। इसके पश्चात् सोमवार को एक बार फिर स्थानीय पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाकर उन्हें हाउस अरेस्ट किया गया। जिसका विभिन्न सामाजिक संगठनों ने निंदा की है। विकास खंड आराजी लाइन कार्यालय में बैठक करके सरकार के इस कृत्य को तानाशाही बताते हुए जल्द से जल्द सुरेश राठौर और योगीराज सिंह को रिहा करने की माँग की। 

सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता ने बताया कि सरकार किसानों के जायज माँग को नहीं मान रही है और आन्दोलनरत किसानों के समर्थन करने वाले लोगों को नजरबंदी, मुकदमा आदि करके आंदोलन को दबाने का प्रयास कर रही है। आंदोलन के दौरान दर्जनों किसानों की मौत भी  हो चुका है, लेकिन संवेदनहीन सरकार की हठधर्मिता किसानों के लिए घातक सिद्ध हो रहा है। ऐसे में देश के सुप्रीम कोर्ट से हम माँग करते है कि वीटो पावर के तहत पूरे मामले का संज्ञान धारण करके किसानों के हित में फैसला दिया जाए। 

बैठक में अली हसन, मनोज राठौर, अजीत पटेल, मुस्तफा, रेनू, श्रद्धा, प्रियंका, प्रदीप, कुसुम, अमरावती, ओमप्रकाश, अजय आदि लोग उपस्थित रहे।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल