आला अफसरों ने दबाव बनाकर हथिया लिया था पंचायत भवन

- बड़ागांव ग्रामसभा के पंचायत भवन में 2005 से चल रहा पुलिस विभाग का दफ्तर

- सन 2005 में सिर्फ छह माह के लिए कार्यालय चलाने का दिया गया था आश्वासन



अरविंद मिश्र

बाबतपुर। बड़ागांव ग्रामसभा के पंचायत भवन में पुलिस विभाग का दफ्तर सन 2005 से चल रहा है। उस समय यह भवन निर्मित होने के बाद सूबे के तत्कालीन सहकारिता मंत्री ने लोकार्पित किया था। उसके दो साल बाद से पुलिस विभाग ने सिर्फ छह माह तक यहां अपना कार्यालय संचालित करने का आश्वासन देते हुए परिसर में अपना आॅफिस शुरु किया लेकिन लगभग 17 साल बीतने के बावजूद आजतक वह अवधि पूरी नहीं हुई।



इस पंचायत भवन का निर्माण तत्कालीन ग्राम प्रधान उषा गुप्ता के कार्यकाल में हुआ था। वह सन 2000 से 2005 तक बड़ागांव की ग्राम प्रधान रहीं। उन्होंने बताया कि सन 2003 में यह पंचायत भवन अपने पूर्ण अस्तित्व में आया। भवन बनने के बाद तत्कालीन सरकार के सहकारिता मंत्री ने इसका लोकार्पण किया। दूसरी ओर, सन 2005 में यहां के ग्राम प्रधान रह चुके घनशयाम गुप्ता ने जानकारी दी कि इस पंचायत भवन में पुलिस का दफ्तर आला अफसरों के दबाव आरंभ हुआ।



श्री गुप्ता ने बताया कि मेरे कार्यकाल में उच्चाधिकारियों ने कहा कि सिर्फ छह महीने तक यहां पुलिस विभाग का कार्यालय चलेगा। उसके बाद इस आॅफिस को दूसरी जगह स्थानांतरित कर दिया जाएगा। लेकिन पुलिस का यह दफ्तर शिफ्ट करने की बारी अबतक नहीं आ सकी। आज तक यहां उनका आॅफिस चल रहा है। दुखद यह कि इस पंचायत भवन परिसर में पुलिस कार्यालय होने के कारण ग्रामीण भीतर प्रवेश करने से भी डरते हैं। इस पंचायत भवन में सेक्रेटरी की उपस्थिति न होने से गांववालों को तमाम दफ्तरों का चक्कर लगाया पड़ता है।


 

इधर, गांव के किसान पवन कुमार पांडेय और हरिनाथ के अनुसार जब यहां पंचायत भवन बना तो ग्रामीणों ने राहत की सांस ली थी कि गांव का विकास शुरु हो चुका है। बड़ागांव ग्रामसभा का अबतक चाहे जैसा भी विकास हुआ हो लेकिन पंचायत भवन से पुलिस का कब्जा नहीं हटा। ग्रामसभा की बैठकें ग्राम प्रधान के घर या खुले में अथवा प्राथमिक विद्यालय में होती है।

इस बारे में जिला पंचायत राज अधिकारी शाश्वत आनंद सिंह कहते हैं कि पुलिस विभाग से यह पंचायत भवन खाली कराने के अबतक से सभी प्रयास विफल रहे हैं। इस कारण इस पंचायत भवन की उपयोगिता निरर्थक साबित हो रही है।




Popular posts from this blog

यूपी में शादी समारोह में बैंड और डीजे पर भी लगा रोक, जिला प्रशासन से नहीं लेनी होगी अनुमति लेकिन........

करवाचौथ पर नहीं दिलाई 12 हजार की साड़ी तो पत्नी ने शो रूम के अंदर ही पति को जमकर पीटा

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी