राज्यमंत्री ने पर्यटन विकास कार्यों की सुस्त गति पर अभियंता को नोटिस

- कैथी में संगम घाट, नौ दुर्गा मंदिरों के गेट निर्माण, गोदौलिया-दशाश्वमेध रोड के कार्यों की गति धीमी

- जिला प्रशासन का आगामी महाशिवरात्रि महोत्सव राजघाट के ओपन थिएटर में कराने की है कवायद

- मंत्री ने सीरगोवर्द्धनपुर में चल रहे विकास कार्य रविदास जयंती से पहले पूर्ण करा लेने के दिये निर्देश



सुरोजीत चैटर्जी

वाराणसी। जनपद में पर्यटन विभाग की कई निर्माणाधीन परियोजना में कार्य की गति बेहद धीमी है। उनमें कैथी स्थित मारकंडेय महादेव के संगम घाट का विकास एवं सुंदरीकरण, गोदौलिया से दशाश्वमेध घाट तक स्ट्रीट पेडिस्ट्रिएसन और फुटपाथ निर्माण सहित विभिन्न मंदिरों के गेट निर्माण के कार्य धीमी गति से कराये जा रहे हैं। फलस्वरूप कैथी के संगम घाट के कार्यों की स्थिति पर सिंचाई विभाग के अभियंता की क्लास लेते हुए नोटिस जारी की गयी है। दूसरी ओर, जिला प्रशासन की ओर से होने वाला आगामी शिवरात्रि महोत्सव राजघाट पर होगा। उससे पहले मौके पर ओपन थिएटर आदि का निर्माण हर हाल में कर लेना होगा।

चैकाघाट स्थित उत्तर प्रदेश पर्यटन के क्षेत्रीय कार्यालय में शुक्रवार को सूबे के पर्यटन, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य एवं प्रोटोकॉल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. नीलकंठ तिवारी ने विभागीय समीक्षा बैठक के दौरान यह फैसला लिया। वह जनपद में संचालित लगभग 11731 लाख रुपये की पर्यटन विकास योजनाओं की प्रगति के बारे में कार्यदायी संस्थाओं के साथ मीटिंग कर रहे थे।

उन्होंने मारकंडेय महादेव के संगम घाट पर 1065.66 लाख रुपये की लागत से चल रहे विकास एवं सुंदरीकरण कार्य की धीमी प्रगति पर सिंचाई विभाग के अभियंता को फटकार लगाते हुए नोटिस जारी कर जवाब-तलब किया। सीरगोवर्द्धनपुर में 1514.02 लाख रुपये की लागत से कराए जा रहे कार्य प्रत्येक दशा में आगामी गुरु रविदास जयंती से पहले पूर्ण कराने के निर्देश दिये। राजघाट पर 59.91 लाख रुपये की लागत से बनने वाले ओपन थिएटर एवं चेंजिंग रूम आदि के कार्य 15 फरवरी तक पूर्ण कराने पर बल दिया। साथ ही बताया कि आगामी शिवरात्रि महोत्सव का आयोजन इसी ओपन थिएटर में होगा।

डॉ. तिवारी ने गोदौलिया से दशाश्वमेध घाट तक 1077.56 लाख रुपये की लागत से निर्माणाधीन स्ट्रीट पेडिस्ट्रिएसन एवं फुटपाथ कार्य की सुस्त गति समेत गुणवत्ता को लेकर सख्त नाराजगी जतायी। वहीं, नौ दुर्गा मंदिरों के गेट, कालभैरव मंदिर गेट तथा अन्य चिह्नित मंदिरों के गेट निर्माण की धीमी प्रगति पर यूपीपीसीएल के अभियंता को आड़े हाथ लिया। बैठक में पर्यटन अधिकारी कीर्तिमान श्रीवास्तव भी थे।

गलियों का सुधार कार्य अगले जुलाई तक करें पूर्ण

शुक्रवार को पर्यटन विभाग कार्यालय में समीक्षा बैठक के दौरान राज्यमंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी ने रामापुरा, बेनियाबाग, कतुआपुरा, हड़हा, गोला दीनानाथ, पियरीकला, चेतगंज, हबीबपुरा, पानदरीबा, प्रह्लादघाट, ओंकालेश्वर, राजघाट, मध्यमश्वर और दारानगर वार्ड की गलियों का कराए जा रहे सुधार कार्य हर हाल में आगामी वर्ष जुलाई तक पूर्ण कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सभी 90 वार्डों की आंतरिक गलियों के सुधार-मरम्मत की वर्कप्लान जल्द बनाकर कार्य कराया जाएगा। उन्होंने डोमरी में हैलीपेड निर्माण के लिए कोर्ट में पैरवी कर स्टे हटवाने पर बल दिया। डॉ. तिवारी अगामी एक जनवरी को चोलापुर ब्लॉक के सरावा स्थित भद्रकाली मंदिर के पर्यटन विकास के लिए 382.32 लाख रुपये परियोजना का शिलान्यास करने का निर्णय लिया।














Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल