सऊदी में दूल्हा, जौनपुर में दुल्हन, कुछ इस तरह हुई शादी, गवाह बने दर्जनों लोग



जनसंदेश न्यूज़

जौनपुर। कोरोना काल में शादियां भी हाईटेक हो गई हैं। ऐसी ही एक हाईटेक शादी गुरुवार की रात जौनपुर में हुई। पाबंदियों के कारण दूल्हा घर नहीं आ सका तो आॅनलाइन शादी की रस्में पूरी कराई गईं। दूल्हा सऊदी में था और दुल्हन जौनपुर में। दोनों ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से निकाह कबूल किया। दर्जनों लोग इस अनूठी शादी के गवाह बने। 

शहर के सिपाह मोहल्ला निवासी काजी हयात की बेटी तहरीन जैदी का निकाह काफी पहले ही सुल्तानपुर के अकील अब्बास रिजवी से मुकर्रर कर दी गया था। अकील अब्बास सऊदी की एक कंपनी में जॉब करते हैं। निकाह के लिए परिवार वाले लॉकडाउन खत्म होने का इंतजार कर रहे थे। लॉकडाउन तो खत्म हुआ लेकिन कोरोना के असर से तमाम पाबंदियों के चलते अकील अब्बास को घर आने का मौका नहीं मिल पा रहा था। 

ऐसे में परिवार वालों ने तकनीक का इस्तेमाल करते हुए आॅनलाइन निकाह का फैसला किया। गुरुवार की शाम करीबी रिश्तेदारों सहित 25-30 की संख्या में बरात सुल्तानपुर से जौनपुर पहुंची। जोशो-खरोस से बरातियों का स्वागत हुआ। सऊदी में मौजूद दूल्हा सज-धजकर अपने दोस्तों के साथ कार्यक्रम में आॅनलाइन शरीक हुआ। बड़े स्क्रीन पर वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए वह सबसे मुखातिब था। रात करीब दस बजे मौलाना शमीमुल हसन ने दूल्हा और दुल्हन से अलग-अलग निकाह कबूल कराया। इसके बाद निकाह की अन्य रस्में पूरी की गईं। सुबह परंपरानुसार दुल्हन विदा होकर ससुराल गई। दुल्हन के भाई शायाद जैदी ने बताया कि कोरोना के कारण दूल्हे का यहां आ पाना संभव नहीं हो सका। ऐसे में आॅनलाइन निकाह की प्रक्रिया अपनाई गई। इससे सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन हुआ है।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल