गाजीपुर : भुगतान पूरा, कार्य अधूरा, जांच का आदेश, 50 लाख की लागत से अधिक वाले कार्यों की समीक्षा



अजय सिंह उर्फ राजू

गाजीपुर। डीएम एमपी सिंह ने 50 लाख से अधिक लागत निर्माण कार्यों की गुरूवार को समीक्षा किए। इस दौरान पाया कि जिला चिकित्सालय कैम्पस गोराबाजार में ट्रामा सेंटर का निर्माण कार्यदायी संस्था उप्र राज्य निर्माण सहकारी संघ लि वाराणसी-द्वितीय द्वारा 31 अक्टूबर तक पूर्ण कराया जाना था, लेकिन अभी तक कार्य पूर्ण नही कराया गया। इसके अतिरिक्त तहसील सेवराई व कासिमाबाद के आवासीय भवनों का निर्माण कार्य उक्त कार्यदायी संस्था द्वारा 31 दिसंबर तक पूर्ण कराया जाना है। परंतु अभी तक मात्र 50 प्रतिशत कार्य पूर्ण हुआ है। 

जबकि तहसील सेवराई व कासिमाबाद के आवासीय भवनों के निमार्ण कार्यो की लागत धनराशि का भुगतान किया जा चुका है। इसी तरह राजकीय होम्योपैथिक मेडिकल कालेज का अनुरक्षण कार्य 31 दिसंबर तक पूर्ण कराया जाना है। जिसकी लागत धनराशि 1.06 करोड़ में से 1.00 करोड़ का भुगतान किया जा चुका है। किन्तु अभी तक मात्र 25 प्रतिशत कार्य उ0प्र0 राज्य निर्माण सहकारी संघ लि0 वाराणसी-द्वितीय द्वारा पूर्ण कराया गया है। कार्यदायी संस्था के कार्य से अंसतुष्ट डीएम ने जांच का आदेश दिया है।



मानक के अनुसार कार्य न होने पर  अधिशासी अभियन्ता पर होगा एफआईआर: डीएम

गाजीपुर। डीएम एमपी सिंह ने चिकित्सालय कैम्पस, ट्रामा सेंटर, तहसील के आवासीय भवन निर्माण कार्य व होम्योपैथिक मेडिकल कालेज के अनुरक्षण कार्यो की जॉच के लिए लोक निर्माण विभाग अधिशासी अभियन्ता व ग्रामीण अभियंत्रण विभाग अधिशासी अभियन्ता की कमेटी गठित करते हुए निर्देशित किया कि जल्द तीनों कार्यो की स्टीमेट के अनुसार भौतिक प्रगति, एव गुणवत्ता रिपार्ट प्रस्तुत करें। यदि मानकों के अनुसार कार्य पूर्ण न किये गये हों तो कार्यदायी संस्था के अधिशासी अभियन्ता के विरूद्ध प्रथम सूचना रिपार्ट (एफ.आई.आर.) दर्ज कराई जाय।

कार्यदायी संस्था अग्रिम भुगतान रोकने का आदेश

गाजीपुर। मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि जिला चिकित्सालय कैम्पस गोराबाजार में ट्रामा सेंटर के निर्माण कार्य हेतु नामित कार्यदायी संस्था को किसी भी प्रकार की धनराशि का अग्रिम भुगतान अग्रिम आदेश तक नहीं करेंगे। वहीं समीक्षा बैठक में  कार्यदायी संस्था के अधिशासी अभियन्ता एस के मिश्रा उपस्थित नही थे,इसके पूर्व की बैठकों में भी ये उपस्थित नही रहें है। जिसे लेकर डीएम ने नाराजगी व्यक्त की है।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल