प्रभारी मंत्री की अध्यक्षता में मीरजापुर के विकास के लिए 45400 लाख की संस्तुति, इस मद में इतना परिव्यय निर्धारित



संजय दुबे

मीरजापुर। मंत्री बन पर्यावरण एवं जंतु उद्यान/जनपद के प्रभारी मंत्री दारा सिंह चैहान के अध्यक्षता में गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार में वार्षिक जिला योजना 2020ध्21 के अनुमोदन हेतु वर्चुअल बैठक संपन्न हुई। प्रभारी मंत्री लखनऊ से वर्चुअल के माध्यम से प्रत्येक विभाग वार जिला योजना की प्रगति व निर्धारित परि व्यय के बारे में जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर एनआईसी में ऊर्जा राज्य मंत्री रमाशंकर सिंह पटेल, विधायक नगर रत्नाकर मिश्र व सांसद प्रतिनिधि उदय पटेल के अलावा जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल व मुख्य विकास अधिकारी से अविनाश सिंह उपस्थित रहे। जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल के द्वारा वार्षिक जिला योजना 2020/21 के बारे में विभाग वार विस्तृत जानकारी दी गई।

जिलाधिकारी बैठक का संचालन करते हुए बताया कि जिला योजना वार्षिक 2020ध्21 के अंतर्गत शासन द्वारा जनपद हेतु 45400 लाख का परि  व्यय निर्धारित किया गया है, जनपद के संबंधित विभागों से प्राप्त प्रस्तावों को सम्मिलित करते हुए विभाग वार जिलाधिकारी द्वारा प्रस्तुतीकरण किया गया। जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल ने विभाग वार जानकारी देते हुए बताया कि कृषि विभाग के विभिन्न योजनाओं के विकास हेतु राष्ट्रीय खाद सुरक्षा मिशन के अंतर्गत 31 लाख का प्रयोग प्रस्तावित है जिसके अंतर्गत किसानों को प्रमाणित बीजों के 200 कुंतल का वितरण, 200 हेक्टेयर पर खंड प्रदर्शन, 10 बखारी का वितरण, 20 कृषि रक्षा उपकरणों का वितरण ,10000 मीटर एचडीपीई पाइप का वितरण, 20 डीजल पंप सेट, एक किसान मेला का आयोजन के आयोजन के साथ ही  12 कृषि प्रशिक्षण कार्य कराए जाने हुए लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं।  

योजनांतर्गत 10 लाख, पशुपालन योजना अंतर्गत 190.50 लाख, दुग्ध विकास के लिए 100 लाख, सहकारिता योजना अंतर्गत 425 लाख वन विभाग योजना अंतर्गत कुल 1110.78 लाख, ग्राम विकास के विशेष कार्यक्रम एनआरएलएम योजना अंतर्गत 2013.40 लाख, मनरेगा योजना अंतर्गत 10925.13 लाख, सामुदायिक विकास ग्राम विकास योजना अंतर्गत 63. 68 लाख, निजी लघु सिंचाई के अंतर्गत 900 जिसमें मध्यम एवं गहरी बोरिंग सपा ग्राउंड वाटर रिचार्जिंग चेक डैम के कार्य प्रस्तावित है। 

राजकीय नलकूप योजना अंतर्गत 743.91 लाख प्रस्तावित किया गया है जिसके अंतर्गत 17 नए नलकूपों का निर्माण एवं 100 नलकूपों के  आधुनिकीकरण के कार्य कराए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत योजना अंतर्गत 7.10 लाख,  खादी ग्राम उद्योग योजनांतर्गत 3 लाख, सड़क एवं पुल योजना अंतर्गत 3340 लाख, पर्यावरण शिक्षा जागरूकता प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए 5.25 लाख, पर्यटन हेतु 450 लाख, प्राथमिक शिक्षा योजना अंतर्गत 1140 लाख, माध्यमिकशिक्षा अंतर्गत 1009.29 लाख, प्राविधिक शिक्षा के लिए 5 लाख, युवा कल्याण एवं प्रादेशिक विकास दल के लिए 26.71 लाख, एलोपैथीचिकित्सा के लिए 801 लाख,  परिवार कल्याण योजना अंतर्गत 20 लाख, जिसके अंतर्गत 4 स्वास्थ्य उप केंद्रों की स्थापना प्रस्तावित किया गया है। 

होम्योपैथिक योजना अंतर्गत 211.76 लाख, आयुर्वेदिक चिकित्सा अंतर्गत 115 लाख, यूनानी चिकित्सा हेतु 21 लाख, ग्रामीण स्वच्छता योजना अंतर्गत 940. 68 लाख जिसके अंतर्गत 7839 सोचालय के निर्माण कार्य कराए जाने हेतु प्रस्ताव उपलब्ध कराया गया है।इसी प्रकार फुल आवास योजना अंतर्गत 432.20 लाख, प्रधानमंत्री योजनां ग्रामीण 12408.50 लाख जिसमें 9545 पात्र लाभार्थियों को आवास दिए जाने हेतु प्रस्तावित किया गया है। 

नगर विकास नगरीय पेयजल योजना अंतर्गत 378.21 लाख धनराशि प्रस्तावित है जिसके अंतर्गत नगरीय क्षेत्र में 110 नग नये हैंडपंपों का अधिष्ठापन, 80 नग हैंडपंपों का रिबोर,दो नए नलकूपों का निर्माण तथा 8 नलकूपों के रिबोर कार्य कराया जाना प्रस्तावित है। अनुसूचित जाति कल्याण योजना अंतर्गत 991.73 लाख, पिछड़ी जाति कल्याण योजना अंतर्गत 787.76 लाख, अल्पसंख्यक कल्याण हेतु 7.16 लाख, समाज कल्याण सामान्य जाति योजना अंतर्गत 282.50 लाख, शिल्पकार प्रशिक्षण हेतु 50 लाख, अनुसूचित जन जाति कल्याण हेतु 7.25 लाख, किसान पेंशनध्  वृद्ध पेंशन हेतु 3150 लाख प्रस्तावित है जिसके अंतर्गत 60 वर्ष के ऊपर के 45000 लाभार्थियों को वृद्धावस्था तथा 1500वासियों को राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना अंतर्गत लाभान्वित किया जाएगा। 

दिव्यांग जनसशक्तिकरण हेतु 803.66 लाख, महिला कल्याण योजना अंतर्गत 1491.84 लाख,  प्रस्तावित किया गया है। जिलाधिकारी ने आगे बताया कि सिंचाई एवं जल संसाधन, खेलकूद एवं सेवायोजन विभाग के कार्यक्रमों में कोई परिव् व्यय प्रस्तावित नहीं किया गया है। जिस प्रकार से आज खुली बैठक में जिला योजना 2020ध्21 के लिए 45400 लाख का परि व्यय सर्वसममति से निर्धारित किया गया। प्रभारी मंत्री ऊर्जा मंत्री विधायक व सांसद प्रतिनिधि सहित सभी उपस्थित अधिकारियों का धन्यवाद ज्ञापित किया। 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल