गाजीपुर में प्रधानपति के हत्या की सुपारी लेने वाले दो ‘कॉन्ट्रैक्ट’ किलर गिरफ्तार, 1 लाख में ली थी सुपारी



अजय सिंह उर्फ राजू

गाजीपुर। जिले में अपराध कर दहशत फैलाने वाले दो अन्र्तजनपदीय लुटेरे व सुपारी किलर को दुल्लहपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस कप्तान डा. ओम प्रकाश सिंह के मुताबिक थानाध्यक्ष दुल्लहपुर जितेन्द्र बहादुर सिंह मय फोर्स के साथ जलालाबाद चैराहे पर संदिग्ध वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। इसी बीच सूचना मिली कि रामुपर पतारी नहर पुलिया टावर के पास बहलोलपुर से चोरी की बाइक जो हलिमा अस्पताल मऊ से चोरी हुई थी। उसी बाइक से दो लोग कहीं जाने के फिराक में है। उन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया। 

आरोपितों में प्रदीप यादव पुत्र श्यामनरायन उर्फ श्यामा यादव, प्रदीप उर्फ गोलू यादव पुत्र अच्छेलाल नखतपुर थाना मरदह के निवासी थे। अभियुक्त  प्रदीप यादव के पास से एक देशी पिस्टल 32 बोर तथा एक जिन्दा कारतूस बरामद हुआ। वहीं  प्रदीप उर्फ गोलू यादव के पास से 02 अदद जिन्दा कारतूस 315 बोर बरामद हुआ ।

प्रधानपति की हत्या के लिए एक लाख ली सुपारी

अभियुक्तों ने कबूल किया कि पिपरीडीह चैकी के पास से आठ नवंबर को एक व्यक्ति को गोली मारकर बैग लूटे थे। जिसमें नगद 50 हजार रुपये,  पासबुक, एटीएम कार्ड मिले थे। इस पैसे से घटना को अंजाम देने के लिए कार खरीदी गई थी। अभियुक्त प्रदीप ने बताया कि हिमांशु उर्फ गोविन्द के साथ मिलकर हम तीनों ने लहुरापुर प्रधानपति की हत्या करने के लिए  01 लाख की सुपारी मिली थी। जिसके बाद प्रधानपति सन्तोष राम को पनसेरवां चट्टी से पीछा कर उसके घर के पास से गोलीमार कर हत्या कर दिया गया।  

डीजे पर गाना बजाने में मारी थी गोली

पुलिस को अभियुक्तों ने पुछताछ में बताया कि आठ नवंबर की रात्रि करीब आठ बजे चुल्लू (रसूलपुर) में प्रदीप यादव उर्फ गोलू के मामा देवेन्द्र यादव के यहां गया था। वहां रविन्द्र यादव के बहन की बारात आई थी। इसी बीच बारात में डीजे पर गाना बजाने की बात को लेकर कहा-सुनी व मारपीट हो गई थी। उसमें मेरे साथी हिमांशु उर्फ गोविन्द ने धरवार कला निवासी रोशनलाल यादव को गोली मारकर हत्या कर दिया था । वहीं बदमाश प्रदीप उर्फ गोलू पुत्र अच्छेलाल यादव ने बताया कि सिर्फ कासिमाबाद कोतवाली के रसूलपुर  वाली घटना में इनके साथ शामिल था।

गिरफ्तारी में शामिल पुलिस टीम

अभियुक्तों की गिरफ्तारी में शामिल थानाध्यक्ष दुल्लहपुर जितेन्द्र बहादुर सिंह, उ.नि. रामअनुग्रह पाण्डेय, मनोज कुमार तिवारी, का. धनंजय सिंह, संदीप पाण्डेय, सतेन्द्र यादव, सौरभ पटेल, पवन चैहान सहित आदि पुलिस कर्मी रहे।



पंद्रह हजार इनामी कुख्यात बदमाश बृजनंदन पांडेय धराया

मनिहारी। जिले में आतंक का पर्याय बने पंद्रह हजार इनामी कुख्यात बदमाश को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस की इस सफलता के बाद आम लोगों ने राहत की सांस ली है।

पुलिस कप्तान द्वारा अपराध एवं अपराधियों व गैंगस्टर एक्ट के वांछितो के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत शादियाबाद पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर शुक्रवार को भावरकोल थाने का गैंगस्टर एक्ट में वांछित अभियुक्त बृजनंदन पांडेय पुत्र प्रेमशंकर पांडेय निवासी कनुआन थाना शादियाबाद को उसके घर से शाम 4.30 बजे गिरफ्तार कर लिया। 

पुलिस के मुताबिक अभियुक्त बृजनन्दन पाण्डेय अपने साथी धर्मेन्द्र गुप्ता उर्फ पूरी पुत्र हरिश्चन्द्र सैदपुर थाना के भीमापार व सादात थाना के गांव गौरा निवासी विपिन सिंह पुत्र स्व. रामनगीना के साथ मिलकर  योजनाबद्ध तरीके से जघन्य अपराध में संलिप्त था। तीनों शातिर किस्म के अपराधी है, इनके जघन्य अपराध करने से जनमानस में भय एवं आतंक व्याप्त था। इन अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए एसपी ने 15-15 हजार का अलग-अलग इनाम घोषित किया था। गिरफ्तारी टीम में थानाथ्यक्ष शिवप्रताप वर्मा, का. विकास मौर्या, प्रवीण कुमार, मुन्नू प्रसाद रहे।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल