दुष्कर्म के आरोपी गायत्री प्रजापति सहित करीबियों की ठिकानों पर ईडी की छापेमारी, मिले 11 लाख पुराने करेंसी



जनसंदेश न्यूज़

(लखनऊ)। दुष्कर्म मामले में आरोपी और सपा सरकार में कद्दावर मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति के घर और ऑफिस समेत अन्य ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय की टीम द्वारा की गई छापेमारी में कई अहम दस्तावेज बरामद हुए हैं। मनी लॉन्ड्रिंग मामले में बुधवार को ईडी ने गायत्री प्रजापति, उनके बेटे और करीबियों के घर व दफ्तर समेत 7 ठिकानों पर एक साथ छापे मारे थे। सूत्रों के मुताबिक लखनऊ में ईडी को 11 लाख की पुरानी करेन्सी, पांच लाख कीमत की सादे स्टाम्प समेत दर्जनों संपत्तियों के दस्तावेज बरामद मिले हैं। इसके अलावा ड्राइवर के नाम 200 करोड़ की संपत्ति के सबूत हाथ लगने की बात सामने आ रही है।

30 दिसंबर को ईडी की टीमों ने लखनऊ में गायत्री के बेटे के कार्यालय, कानपुर में उनके चार्टर्ड अकाउंटेंट, अमेठी में पूर्व मंत्री के ड्राइवर के घर पर छापेमारी की थी। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक टीम को अहम दस्तावेज मिले हैं। इनमें काली कमाई के सबूत भी हैं। लखनऊ में ईडी को 11 लाख रुपए के पुराने नोट, पांच लाख कीमत की स्टाम्प, पुणे में करोड़ों की संपत्ति, ड्राइवर के नाम 200 करोड़ की सम्पत्ति के दस्तावेज हाथ लगे हैं।

इतना ही नहीं टीम को कई ऐसे दस्तावेज भी मिले हैं, जिससे गायत्री प्रजापति के बेटे द्वारा मुखौटा कंपनियां बनाने की पुष्टि होती है। इसके जरिए काली कमाई को सफेद किया गया। साथ ही लखनऊ में 110 एकड़ जमीन खरीदे जाने की जानकारी है। अब ईडी पुणे की रजिस्ट्री विभाग से भी जानकारी जुटाएगी। गौरतलब है कि पिछले साल अगस्त में गायत्री के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। फिलहाल गायत्री प्रजापति और उनका बड़ा बेटा जेल में बंद हैं।


Popular posts from this blog

यूपी में शादी समारोह में बैंड और डीजे पर भी लगा रोक, जिला प्रशासन से नहीं लेनी होगी अनुमति लेकिन........

करवाचौथ पर नहीं दिलाई 12 हजार की साड़ी तो पत्नी ने शो रूम के अंदर ही पति को जमकर पीटा

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी