झोलाछाप चिकित्सक ने ली जच्चा-बच्चा की जान, हॉस्पिटल से गायब हुए चिकित्सक व स्टाफ, मचा कोहराम



अजय सिंह उर्फ राजू

कासिमाबाद/गाजीपुर। क्षेत्र के वेदबिहारी पोखरा स्थित निजी अस्पताल के झोला छाप डाक्टरों की लापरवाही से बुधवार की देर रात प्रसव के दौरान जच्चा-बच्चा की मौत हो गई। जच्चा-बच्चा के मौत के बाद अस्पताल के डाक्टर सहित स्टाफ गायब हो गए। अस्पताल संचालक के गायब होने के बाद परिजन हो-हल्ला करने लगे। जानकारी होने पर पुलिस मौके पर पहुंचकर मामला शांत कराने में जुट गए।  

बेदबिहारी के पोखरे खजुहॉ मॉ वैष्णवी अस्पताल में मंगलवार को निवासी सिपाह थाना बरेसर चंदा राजभर पत्नी हरिलाल राजभर प्रसव पीड़ा शुरू होने के बाद पहुंची। जहां पर झोलाछाप डाक्टरों ने महिला को भर्ती कर लिया। उनके बाद ब्लड की कमी की बात डाक्टरों द्वारा कहा गया। परिवार के द्वारा ब्लड नहीं उपलब्ध होने पर ब्लड के नाम पर डॉक्टर ने पांच हजार रूपया लिया। उनके बाद आक्सीजन के नाम पर भी पांच हजार लिया। फिर आपरेशन के द्वारा प्रसव कराने के लिए  तीस हजार की मोटी रकम परिजनों से लिया गया। लेकिन डाक्टरों की लापरवाही से जच्चा-बच्चा की मौत हो गई। 

मौत की खबर क्षेत्र में आग की तरह फैल गई। ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची। मौके पर पहुंची पुलिस ने पैसा लेकर लीपा-पोती करने में लग गई। परिजनों पर सुलह समझौता करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। फिलहाल अस्पताल संचालक सहित स्टाफ अस्पताल पर ताला जड़कर फरार हो गये है। 







Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल