चंदौली में पांच बच्चों और पत्नी के साथ रेलवे पटरी पर लेट गया युवक, सामने से आ रही थी सीआरपीएफ स्‍पेशल ट्रेन, जवानों की सतर्कता से ऐसे बची जान



जनसंदेश न्यूज़

चंदौली। आरपीएफ जवानों की सतर्कता से जनपद में एक भरे पूरे परिवार की जान बच गई। पांच बच्चों संग रेल पटरी पर लेटे दंपत्ति पर आरपीएफ की निगाह पड़ी वें दंग रह गये। आनन-फानन वें सभी को समझा-बुझाकर पटरी हटाये और उन्हें घर पहुंचाया। मामला पीडीडीयू जंक्शन व जीवनाथपुर के मध्य रेल पटरी पर का है। जहां गश्त कर रहे जवानों ने परिवार को पटरी पर लेटे देखा तो समझा-बुझाकर घर वापस भेजा। 

आर्थिक तंगी व घरेलू विवाद के चलते पीडीडीयू व जीवनाथपुर के बीच नगर के चतुर्भूजपुर निवासी एक व्यक्ति पत्नी और पांच बच्चों के साथ खुदकशी करने के लिए रेलवे लाइन के बीच लेटा हुआ था। 030446 अप सीआरपीएफ स्पेशल ट्रेन रविवार को जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर सात से अगले गंतव्य के लिए रवाना हुई। इसी दरम्यान बीट ड्यूटी में तैनात स्टाफ आरक्षी आरआरके सिंह ने लगभग 50 मीटर दूर से लाइन पर हलचल देखा तो वे दौड़कर पहुंचे और तुरंत सपरिवार को रेलवे लाइन से हटवाया। इसी बीच गुजर रही सीआरपीएफ स्पेशल ट्रेन को पास कराया।

अगले दिन वरीय मंडल सुरक्षा आयुक्त आशीष मिश्रा के निर्देश पर महिला उपनिरीक्षक अर्चना कुमारी मीणा पीड़ित परिवार के घर पर पहुंची और उन लोगों की काउंसलिंग की। परिवार को बताया गया कि यह कानूनन जुर्म है तथा उन्हें हिदायत दी गई। सोमवार को कमांडेंट आशीष मिश्रा के निर्देश पर जवान पीड़ित के घर पहुंचे और भविष्य में ऐसा दुबारा न करने की हिदायत दी। 


Popular posts from this blog

यूपी में शादी समारोह में बैंड और डीजे पर भी लगा रोक, जिला प्रशासन से नहीं लेनी होगी अनुमति लेकिन........

करवाचौथ पर नहीं दिलाई 12 हजार की साड़ी तो पत्नी ने शो रूम के अंदर ही पति को जमकर पीटा

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी