प्रधानमंत्री जाएंगे सेवापुरी विकास खंड, खुद तय करेंगे गांव!

- दो दिनी दौरे में पीएम नरेंद्र मोदी जा सकते हैं मॉडल ब्लॉक

- लाभार्थियों और व्यवहार बदल चुके लोगों से करेंगे संवाद

- विकास खंड के हर गांव में लगी टीम, प्रारूप पर बन रहा ब्योरा



सुरोजीत चैटर्जी

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने आगामी संभावित वाराणसी दौरे में सेवापुरी विकास खंड जा सकते हैं। वह खुद तय करेंगे कि देश के पहले मॉडल ब्लॉक के तौर पर विकसित किये जा रहे इस विकास खंड के किस गांव का भ्रमण करना है। उस गांव में विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों समेत व्यवहार में बदलाव कर चुके ग्रामीणों संग उनका संवाद भी होगा। पीएम के इस कार्यक्रम का आम जनता के लिए सजीव प्रसारण किया जाएगा। मोदी के आगमन की संभावनाओं को देखते हुए सेवापुरी विकास खंड के प्रत्येक गांव में जागरूकता पैदा करने वालों की टीमों को और अधिक सक्रिय किया जा रहा है।

आगामी 29 व 30 नवंबर को पीएम के संभावित दौरे को लेकर इस प्रकार की चर्चा तेज होते ही उनके सेवापुरी विकास खंड भी जाने की सुगबुगाहट होने लगी है। जिसके मुताबिक बनारस के सांसद नरेंद्र मोदी यदि इन तिथियों में आते हैं तो वह मॉडल ब्लॉक के रूप में विकसित किये जा रहे किस गांव में जाएंगे, यह जिला प्रशासन नहीं बल्कि स्वयं प्रधानमंत्री निर्धारित करेंगे। माना जा रहा है कि अगर इस प्रकार का कार्यक्रम बना तो पीएमओ स्तर तय होगा कि पीएम सेवापुरी विकास खंड के किस गांवों का अवलोकन करने वाले हैं। इसके लिए दिल्ली की टीम यहां स्थलीय मौका-मुआयना कर गांव के बारे में फैसला ले सकती है।

सूत्र बताते हैं कि मोदी के दौरे को देखते हुए सेवापुरी ब्लॉक के गांवों में विभिन्न बिंदुओं पर लोगों को जागरूक करने वाली टीमों को और अधिक सक्रिय होने सहित मुहिम के तौर पर जुटने को कहा गया है। खासतौर पर व्यवहार परिवर्तन को लेकर ज्यादा जोर है। वहीं, इस ब्लॉक में बीते चार महीनों में कराए गये कार्यों के परिणाम का आंकलन भी होगा। लाभार्थी पहले से ही चिह्नित हैं। इसके लिए बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग, शिक्षा, कृषि और स्वास्थ्य वगैरह महकमों को इसके लिए विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिये गये हैं।

विकास खंड के गांवों में विभिन्न विभागों की ओर से स्वयंसेवकों समेत स्वच्छाग्राही आदि लगाए गये हैं। हाईस्कूल-इंटर के बच्चों को प्राथमिक स्कूलों के बच्चों को जागरूक करने की जिम्मेदारी दी गयी है। ब्लॉक के गांवों में अन्नदाताओं को कृषि क्षेत्र की नयी तकनीकों की जानकारी देने की जिम्मेदारी वहीं के अपेक्षाकृत बेहतर खेती-बाड़ी कर रहे या प्रगतिशील किसान संभाल रहे हैं। फिलहाल स्थानीय स्तर पर जनपद स्तरीय किसी अफसर को यह नहीं बताया गया है कि पीएम के लिए फलां गांव में तैयारियां शुरु कीजिए। लेकिन वर्तमान में नीति आयोग के निर्देश पर इस विकास खंड में जो कवायद चल रही है उसके मुताबिक सभी महकमों को अपनी-अपनी योजनाओं के संचालन से प्राप्त रिजल्ट और उपलब्धियों का आंकलन एक तय प्रारूप पर दर्ज करेंगे।

इस प्रकार के आंकलन से यह स्पष्ट करने का प्रयास होगा कि मॉडल ब्लॉक बनाने के लिए सेवापुरी में अबतक कराए गये कार्यों को लेकर उद्देश्य में कितनी सफलता मिली और ग्रामीणों के व्यवहार में कितना बदलाव आया है। यदि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 29 नवंबर को दो दिनी दौरे पर आते हैं तो वह 30 नवंबर को गंगातट के घाटों पर होने वाले विश्वविख्यात देवदीपावली में भी हिस्सा लेंगे।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल