भागवत कथा श्रवण करने वालों का दूर होता है कष्ट और क्लेश- स्वामी संपतकुमाराचार्य



जनसंदेश न्यूज़

वाराणसी। श्री वैष्णव मठ मदरवां वाराणसी में आयोजित श्रीमद् भागवत महापुराण सप्ताह कथा ज्ञान यज्ञ में मंगलवार को प्रथम दिन कथा आरंभ करते हुए पीठाधीश स्वामी 1008 जगदगुरू स्वामी श्री संपतकुमाराचार्य जी ने अपने मुखारविंद से श्रीमद् भागवत महापुराण के महात्म का वर्णन किया।

इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज पूरे संसार में कोरोना महामारी से विश्व समुदाय असमय काल कलसित हो मृत्यु को प्राप्त हो रहे हैं। जिसके लिए दवा की खोज में वैज्ञानिक लोग प्रयासीत है, परंतु अभी सफलता नहीं मिल पाई है। ऐसी स्थिति में जन समुदाय को भक्ति भाव में रहकर भगवान की भक्ति और शरणागति स्वीकार कर कथा श्रवण करना चाहिए और अपना मनोबल को बनाए रखना चाहिए।

कहा कि भगवान की कृपा से हमारा मानव समाज इस महामारी पर अवश्य विजय प्राप्त करेगा। भगवान वासुदेव श्री कृष्ण शरण में आए हुए की सारी पीड़ा दूर करते हैं। श्रीमद्भागवत में आया है कृष्णाय वासुदेवाय हरए परमात्मने प्रणब कॉलेस नाशाय गोविंदाय नमो नमः।। इस तरह भगवान सभी आत्मीय जनों को भक्तजनों के कष्ट दूर करते हुए कष्ट हरण करते हैं।

भागवत महापुराण के एक एक मंत्र भवसागर से पार करता है, जैसे कि बिच्छू के डंक मारने पर सांप के काटने पर मंत्र द्वारा विश् का हरण हो जाता है, उसी प्रकार जो भी जीव श्रीमद्भागवत पुराण का श्रवण करेगा। उसका क्लेश और कष्ट मिट जाएगा और भवसागर से पार हो जाएगा जैसे कि-धुंधकारी ने प्रेत योनि से मुक्त हो गया। इसी प्रकार हर बाधा को श्रीमद्भागवत पुराण हर एक कष्ट का निवारण करता है। पंडित श्री, कृपासिंधु पाठक वैदिक मंत्र के द्वारा पूजन किया गया और बहुत से भक्त कथा श्रवण किए और प्रसाद ग्रहण किए। 




Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल