काशी की विश्व प्रसिद्ध भव्य गंगा आरती का दीदार करेंगे मोदी

० घर-घर जलेंगे दीप, गंगा घाटों पर ग्यारह लाख दीयों से रोशन होंगी देवताओं की राह

० दिखेगी मिनी इंडिया की संस्कृति की झलक, बनारस के सभी घाटों पर भव्य आयोजन

० गंगा घाटों से लेकर शहर में सभी सड़क-चौराहों पर धर्म और कला की झलक दिखेगी

 

विशेष संवादाता
वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देव दीपावली कार्यक्रम की भव्य तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। देव दीपावली पर भगवान आशुतोष की नगरी काशी की छटा अलौकिक रहेगी। कोरोना महामारी से बचाव को लेकर शासन की ओर से जारी किए गए गाइडलाइन का ख्याल रखते हुए सोमवार के आयोजन की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। गंगा घाटों से लेकर शहर में सभी सड़क-चौराहों पर धर्म और कला की झलक दिखेगी। देश भर के लोक कलाकार अपने राज्यों की कला और संस्कृति का दर्शन कराएंगे। मिनी इंडिया कही जाने वाली काशी में एक और मिनी इंडिया अबकी घाटों पर दिखाई देगी।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करीब नौ महीने बाद बनारस आ रहे हैं। मोदी काशी से ही संसद में देश का प्रतिनिधित्व करते हैं। पीएम के स्वागत के लिए साफ-सफाई के साथ सजावट भी शुरू हो गई है। नृत्य नाटिका के अलावा रामायण और महाभारत की लीलाओं का भी मंचन किया जाएगा। प्रशासन की कोशिश है कि बनारस में देव दीपावली के दिन हर घर में दीप जलाए जाएं और लोग अपने घरों को रंग-बिरंगी रोशनी से जगमग करें।



देव दीपावली पर इस बार घाटों पर करीब ग्यारह लाख दीपक जलाए जाएंगे। गंगा पार रेत पर सैंड आर्ट, चेत सिंह घाट पर लेजर शो और सारनाथ में लाइट एंड साउंड शो का आयोजन किया गया है। यूं तो गंगा के कई घाटों पर आरती होगी, लेकिन मुख्य आरती दशाश्मेध घाट पर होगी। गंगोत्री सेवा समिति की ओर से 21 ब्रह्मणों द्वारा मां गंगा की महाआरती की जाएगी। खास यह रहेगा कि इस बार सोशल डिस्टेंसिंग को नजरअंदाज नहीं किया जाएगा।

 


गंगोत्री सेवा समिति के संस्थापक अध्यक्ष पंडित किशोरी रमन दुबे 'बाबू महाराजने बताया कि घाट को टिमटिमाते दीपों से सजाया जाएगा। मां गंगा का दुग्धाभिषेक 151 लीटर दूध से होगा। षोडशोपचार पूजन किया जाएगा। मां गंगा को असंख्य दीपदान किए जाएंगे। दशाश्वमेध घाट पर रजत सिंहासन पर हर साल मां गंगा की अष्टधातु की प्रतिमा विराजमान होती है। मां गंगा की प्रतिमा साल में दो बार गंगा दशहरा और देव दीपावली पर घाट पर लोगों के दर्शन-पूजन के लिए स्थापित की जाती है। गंगा आरती के दौरान रिद्धि-सिद्धि रूप में कन्याएं मां गंगा को चंवर डोलाएंगी। आयोजन के दौरान शासन की ओर से जारी किए गए गाइडलाइन का पालन किया जाएगा।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल