वोकल फॉर लोकल: चंदेरी कारीगर समुदाय के लिए ओके क्रेडिट ने शुरू की विशेष वेबसाइट

मध्य प्रदेश के सिल्क कारीगरों का चंदेरी करता है समर्थन 



डॉ. दिलीप सिंह

इंदौर। वैश्विक महामारी के साथ, वर्ष 2020 छोटे व्यवसायों के लिए चुनौतीपूर्ण रहा है, जो इसके माध्यम से जीवित रहने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। छोटे व्यवसायों को विकसित करने और उन्हें सशक्त बनाने में मदद करने के उद्देश्य से, ओके क्रेडिट उर्फ ‘डिजिटल इंडिया का डिजिटल बहीखाता’ अब इस दिवाली चंदेरी कारीगर समुदाय के बीच थोड़ा उत्सव का आनंद फैलाने के लिए उन्हें ले लिया है।

ओके क्रेडिट, सरल और आसानी से उपयोग किए जाने वाले उत्पाद बनाकर छोटे व्यवसायों को सशक्त बनाने की अपनी प्रतिबद्धता को जारी रखते हुए, ओके शोप - आपकी अपनी ऑनलाइन शोप शुरू करने की तैयारी कर रहा है। ओके शॉप सभी छोटे व्यवसायों को दो आसान चरणों में अपनी ऑनलाइन उपस्थिति स्थापित करने की अनुमति देकर व्यापार करने में आसानी प्रदान करता है। यह व्हाट्सएप पर छवियों, विवरणों और पुरस्कारों, सुरक्षित ऑनलाइन भुगतान और अविष्कारों और ऑफर के आसान साझाकरण विकल्प के साथ उत्पादों के कैटलॉग बनाने में मदद करता है। विक्रेता अपनी स्टॉक उपलब्धता के अनुसार सूची से जोड़ या हटा सकते हैं। यह स्थानीय विक्रेताओं को इस ट्रुली मेड इन इंडिया ऐप की मदद से डिजिटल बिजनेस प्रो की तरह चलने में सक्षम बनाता है।



इस लॉन्च अभियान के बारे में ओके क्रेडिट के को-फाउन्डर और सीईओ हर्ष पोखर्णा ने कहा कि जैसा कि श्री नरेन्द्र मोदी ने सही कहा है, इन कठिन समयों में हमने अपने देश की सभी स्थानीय दुकानों और व्यवसायों के महत्व को महसूस किया है, और भारतीय डिजिटल अर्थव्यवस्था के लिए एक आवाज लाने में सक्षम होना चाहिए। ओकेशोप उन्हें डिजिटल सशक्तिकरण के लिए एक मंच प्रदान करता है, और इस वर्ष के दिवाली अभियान छोटे व्यापारियों के लिए इस चुनौतीपूर्ण स्थिति के दौरान उनके निस्वार्थ समर्थन के लिए आभार और प्रशंसा दशार्ता है। हमें उम्मीद है कि हम चंदेरी समुदाय में बदलाव ला सकते हैं। 

राष्ट्र की सामान्य दृष्टि के साथ- ‘वोकल फॉर लोकल’, ओकेशोप ने अपना पहला अभियान ‘चंदेरी की दिवाली’ शुरू किया। इस अभियान के साथ ओकेशोप 3000़ से अधिक लूम्स पर बढ़ रहा है, और चंदेरी के 6000़ से अधिक बुनकर एक संस्कृति को विकसित करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं और महामारी के बाद एक स्थायी व्यवसाय बनाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। यह अवसर अब बुनकरों को अपनी बिक्री बढ़ाने और पूरे भारत में अपने उत्पादों की उच्च दृश्यता प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहन प्रदान करने के साथ-साथ सीधे उनकी क्षमता तक पहुंचने में सक्षम बनाएगा। इससे जुड़ा कोई आयोग नहीं है, इसलिए बुनकर अपने उत्पादों को मुफ्त में ग्राहकों को बेच सकते हैं।



ओके क्रेडिट ने अपने उत्पादों को जोड़ने और ग्राहकों से सीधे खरीदने के लिए बुनकरों के लिए एक विशेष वेबसाइट भी शुरू की है। चंदेरी समुदाय को सरकार और स्थानीय अधिकारियों से भी बहुत समर्थन मिला है, और बुनकरों को नवाचार करने और भारत की डिजिटल अर्थव्यवस्था में योगदान देने की दिशा में आगे कदम बढ़ाने के लिए पहले 100 प्रतिशत मुफ्त वाई-फाई समुदाय में से एक है। डिजिटल सशक्तीकरण का नेतृत्व करने के लिए और उस तरह से छोटे भारतीय व्यवसायों को विकसित करने के लिए ओके शोप के माध्यम से ओके क्रेडिट का लक्ष्य आत्मनिर्भर है।



Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल