पांव धोई नदी के किनारे बने सभी कूड़ा घरो को किया जाएगा अंडरग्राउंड




 सहारनपुर। पांव धोई नदी के किनारे बने  सभी कूड़ा घरो को किया जाएगा अंडरग्राउंड। निगम कीबोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद हो जाएगा काम  शुरू।                          

 नगर आयुक्त ज्ञानेंद्र सिंह जी ने बताया ज्ञानेंद्र नगर निगम सहारनपुर को कूड़ा मुक्त करने की दिशा में लगातार काम कर रहा है ताकि अपना लक्ष्य प्राप्त कर  स्वच्छ सर्वेक्षण निस्तारण प्लांट लगाने की भूमि में नंबर वन आ सके उन्होंने बताया कि जहां पर कूड़ा निस्तारण प्लांट लगाने के लिए भूमि खरीद कर उस पर काम शुरू किया जा रहा है वही महानगर के एम आर एफसैंटरो में थीलेयर प्लास्टिक को अलग से एकत्र कर  रिसाफाइलिंग के लिए दिल्ली के कंपनी को भेजा जा रहा है गत दिनों एक ट्रक भेजा जा चुका है आगे के लिए भी तैयारी की जा रही है उन्होंने बताया कि इसी कड़ी में शहर के बीचो-बीच गुजरने वाली ऐतिहासिक है और आध्यात्मिक महत्व पावथोई नदी के किनारे बने चारों कुड़ा घरों को अंडरग्राउंड किया जा रहा है उससे नदी  के दोनों और साफ सुथरा रखा जा सके और कुड़ा घरों का कूड़ा नदी में ना जा सके इससे नदी ही प्रदूषण मुक्त करने की दिशा में चल रहे कार्यों में सहायता मिलेगी बताया कि अंडरग्राउंड कुडे के लिए नगर निगम कीबोर्ड में प्रस्ताव लाया जाएगा बोर्ड की स्वीकृति मिलने के बाद इस योजना पर काम शुरू हो जाएगा नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर ए के त्रिपाठी नेअंडरग्राउंड कुडाघरो की जानकारी देते हुए बताया कि 3 क्यूबिक मीटर आकार में  अंडर ग्राउंड कारपेट के चेंबर बनाए जाएंगे बाहर एक प्लेटफार्म होगा और उस पर 2 फिट होंगे उसका कनेक्शन नीचे कूड़ा घर में होगा डेट फॉर्म के चारों और बारर्केटिंग बनाई जाएगी इसका एक गेट होगा इस प्लेट से जाकर ही है कूड़ा डाला जायेगा डॉक्टर त्रिपाठी ने बताया इन कुड़ा घरों पर निगरानी तंत्र के रूप में कैमरे लगाए जाएंगे जैसे ही कूड़ा भर जाएगा तुरंत नगर निगम में बने कंट्रोल रूम में मैसेज आ जाएगा और वहां हाइड्रोलिक मशीन भेजकर कूड़ा खाली कर दिया जाएगा उन्होंने बताया कि नदी के दोनों और सड़कों का सौदयँकरण भी बढ़ेगा और पावधोई नदी को प्रदूषित होने से बचाया जा सके

Popular posts from this blog

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी

फरवरी में होगा पंचायत चुनाव! यूपी बोर्ड की परीक्षाएं मार्च के बजाय अप्रैल में होने की चर्चा

ग्राम प्रधानों को दी गई राशि की जांच करेगी योगी सरकार, कार्यकाल में हुए सभी खर्च की कराई जायेगी आॅडिट