मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने निभाई दोस्ती, सुशील मोदी को सौंपी यह अहम जिम्मेदारी, बने इसके अध्यक्ष



जनसंदेश न्यूज़

बिहार। राज्य में सरकार गठन के बाद से ही यह चर्चा चल रही थी कि भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी को कोई बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है। इसको लेकर भाजपा नेताओं ने भी अपनी-अपनी राय रखी। इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने सबसे गहरे दोस्त और कई सालों तक उनके साथ डिप्टी सीएम की जिम्मेदारी संभालने वाले सुशील मोदी को एक अहम जिम्मेदारी सौंपी है। 

सीएम नीतीश ने अब सरकार ने भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के साथ ही पूर्व जल संसाधन मंत्री संजय झा को विधान भवन में एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी है। नीतीश ने दोनों नेताओं को विधान परिषद के अलग-अलग समितियों का अध्यक्ष बनाया गया है। पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को आचार समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। वहीं पूर्व मंत्री संजय झा को याचिका समिति की जिम्मेदारी दी गई है।

विधान परिषद के कार्यकारी सभापति अवधेश नारायण सिंह ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। दोनों समितियां विधान परिषद की स्थाई है और महत्वपूर्ण समितियां हैं।

बता दें कि विधान सभा सत्र के दौरान विधानमंडल के किसी सदस्य या अधिकारियों के खिलाफ भी काम में किसी प्रकार की लापरवाही की शिकायत पर आचार समिति के अध्यक्ष पर कार्रवाई की जिम्मेदारी होती है। 

गौरतलब है कि जीतन राम मांझी को मुख्यमंत्री बनाए जाने के बाद आचार समिति के अध्यक्ष नीतीश कुमार बनाए गए थे। इससे पहले आचार समिति के अध्यक्ष पूर्व शिक्षा मंत्री पीके शाही और विधान परिषद के पूर्व वरिष्ठ सदस्य रामबचन राय रह चुके हैं।




Popular posts from this blog

'चिंटू जिया' पर लहालोट हुए पूर्वांचल के किसान

नलकूप के नाली पर पीडब्लूडी विभाग ने किया अतिक्रमण, सड़क निर्माण में धांधली की सूचना मिलते ही जांच करने पहुंचे सीडीओ, जमकर लगाई फटकार

चकिया में देवर ने भाभी के लाखों के गहने और नगदी उड़ाये, आईपीएल में सट्टे व गलत आदतों में किया खर्च, एएसपी ने किया खुलासा