जगी उम्मीद: संविदा शिक्षकों के सत्याग्रह का पीएमओ ने लिया संज्ञान



जनसंदेश न्यूज़

वाराणसी। महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के संविदा शिक्षकों का सत्याग्रह 18वें दिन भी जारी रहा। वेतन भुगतान को लेकर संविदा शिक्षकों के धरने का पीएमओ द्वारा संज्ञान लिया गया। जिसे देखते हुए शिक्षकों को उम्मीद की किरण दिखी है।  इस पर शिक्षकों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आभार व्यक्त किया। 

शिक्षकों का आरोप है कि कुलपति प्रोफेसर टीएन सिंह की मनमानी तथा संवादहीनता का परिचय देते हुए लगातार शासनादेश का उल्लंघन कर रहे है और गैरकानूनी तरीकें से साक्षात्कार करा रहे हैं। काशी विद्यापीठ प्रशासन जो भी रिव्यू साक्षात्कार करा रहा है, वह पूरी तरह से उत्तर प्रदेश सरकार के शासनादेश का खुला उल्लंघन है। आरोप लगाया कि कुलपति अपनी हठधर्मिता के कारण विद्यापीठ के संविदा शिक्षकों का न केवल शोषण एवं अपमानित कर रहे है बल्कि विश्वविद्यालय की छवि भी लगातार खराब कर रहे हैं। 

ज्ञात हो कि संविदा शिक्षक अपने अधिकार की रक्षा एवं उ.प्र.सरकार के शासनादेश के संबंध में अभी विधिक सलाह ले रहे हैं और आवश्यकता पड़ने पर न्यायालय की शरण भी ले सकते है। जिसकी लिखित सूचना कुलपति एवं विद्यापीठ प्रशासन को उपलब्ध करा दी गई है। संविदा शिक्षकों ने  अभी तक कोई मुकदमा नहीं किया हैं। उनका कहना है कि यदि संविदा शिक्षकों के हितों का ध्यान विद्यापीठ प्रशासन नहीं रखता है तो न्यायालय में वाद दायर  करने  को  वे मजबूर होंगे। 

इस सत्याग्रह में डॉ. अनुपमा शुक्ला, डॉ. निर्मला, डॉ. अपर्णा त्रिपाठी, डॉ. मानिकचंद पाण्डेय, डॉ. शशि प्रकाश, डॉ. अजय कुमार, डॉ एस पी एन सिंह, डॉ मनोज कुमार आदि सत्याग्रही उपस्थित रहे।




Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल