मुस्लिम इंस्पेक्टर ने थाने में मनाई दिवाली, पत्नी संग की लक्ष्मी-गणेश की पूजा




मेरठ। कुछ लाेग भले ही धर्म के नाम पर कट्टरवाद का जहर समाज में घाेलते रहते हाें लेकिन ऐसे लोग भी इसी समाज में हैं जाे समय-समय पर साैहार्द की नजीर पेश करके समाज काे जाेड़ने का काम करते हैं। ऐसा ही एक उदाहरण मेरठ में तैनात मुस्लिम इंस्पेक्टर ने दिया है। धर्म से ऊपर उठकर इस मुस्लिम इंस्पेक्टर ने अपने परिवार के साथ पूरी धूमधाम से दीपावली का पर्व मनाया। इतना ही नहीं इस परिवार ने पूरे थाने को सजाया। इंस्पेक्टर की पत्नी और बच्चों ने मिलकर थाने में रंगोली भी बनाई। ऐसा करने के बाद अब इंस्पेक्टर और उनके परिवार की पूरा महकमा तारीफ करता नहीं थक रहा। हम बात कर रहे हैं मेरठ के सिविल लाइन थाने में तैनात इंस्पेक्टर अब्दुल रहमान सिद्दीकी की। शऩिवार काे इन्हाेंने थाने के पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर दीपावली का पर्व हर्षोउल्लास के साथ मनाया। इस दौरान इन्हाेंने अपने परिवार और थाने की पूरी टीम के साथ मिलकर थाना परिसर में दीप जलाए। दीपावली के मौके पर मुस्लिम थानेदार के इस कार्य की अब चारों ओर सराहना हाे रही है। इस बारे पूछने पर खुद अब्दुल रहमान का कहना है कि दीपावली का पर्व भगवान राम से जुड़ा हुआ है। भगवान राम किसी एक मजहब के नहीं हैं बल्कि वे हमारी भारतीय और संस्कृति के जनक हैं। एक भारतीय होने के नाते हम सभी काे सभी के धर्म और पर्वों को उत्साह और उमंग के साथ मनाना चाहिए। इसी साेच के साथ उन्हाेंने दीपावली के मौके पर पत्नी के साथ दीपक जलाए और पूजा-अर्चना की। उन्होंने यह भी कहा कि आज के दिन भगवान राम अयोध्या से वापस लौटे थे उन्हीं के वापस लौटने की खुशी में दीप जलाए जा रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया वह वर्षों से पत्नी और बच्चों के साथ दीपावली पर्व मनाते हैं। उनकी पत्नी मनविश ने कहा कि वे दीपावली वैसे ही मनाती हैं जैसे ईद। इस दौरान उनके साथ बेटा अरमान और बेटी अलीसा भी साथ थी जिन्होंने थाने में दीपक जलाए और दीपावली मनाई।

Popular posts from this blog

'चिंटू जिया' पर लहालोट हुए पूर्वांचल के किसान

चकिया में देवर ने भाभी के लाखों के गहने और नगदी उड़ाये, आईपीएल में सट्टे व गलत आदतों में किया खर्च, एएसपी ने किया खुलासा

नलकूप के नाली पर पीडब्लूडी विभाग ने किया अतिक्रमण, सड़क निर्माण में धांधली की सूचना मिलते ही जांच करने पहुंचे सीडीओ, जमकर लगाई फटकार