कोरोना ने बनाया कारीगर, बाजार में फीकी हुई मिठाइयों की मिठास



जनसंदेन न्यूज़

वाराणसी। भारतीय तीज-त्योहारों में मिठाइयों की एक खास जगह होती है। वहीं त्योहार अगर दीपावली जैसा हो तो मिठाइयों का महत्व और भी बढ़ जाता है। रिश्तों में मिठास घोलने वाले इन तीज-त्योहारों में मिठाइयां अपना खास महत्व रखती है। इस बार दीपावली ऐसे समय पड़ी है, जब पूरी दुनिया कोरोना संकट से जूझ रही है। ऐसे में दिवाली की मिठास थोड़ी फीकी जरूर हुई है, लेकिन फिर भी इस त्योहार को लेकर लोगों में एक खास उत्साह देखने को जरूर मिल रहा है। 

दीवाली पर दिए जाने वाले गिफ्ट के चलते हर साल दिवाली सीजन में मिठाइयों की खुब बिक्री होती है। लेकिन इस बार कोरोना के वैश्विक के कारण दिवाली के समय मिठाइयों की बिक्री कम हो रही है। कई व्यापारियों का यह मानना है कि पिछले बार की अपेक्षा इस बार मिठाइयों के आर्डर कम मिले है। बनारस के प्रतिष्ठित शिवम मिष्ठान के प्रोपराइडर विकास चक्रवाल का कहना है कि हर साल दिवाली के दौरान मिठाइयों की खुब मांग रहती है, लेकिन बार मिठाइयों की मांग कम है। त्योहार के इस मौसम में कोरोना संकट ने काफी असर डाला है। 

लॉकडाउन ने लोगों को बनाया कारीगर!

कोरोना की आहट के बाद ही पूरे देश में अभूतपूर्व लॉकडाउन लगाया गया। लगभग डेढ़ से दो महीनों की अवधि के लिए लगाये गये लॉकडाउन के दौरान लोग घरों में बैठे रहे। घरों में बैठे-बैठे लोग नये-नये प्रयोग करते रहे। खासकर खान-पान को लेकर लोगों ने खुब सीखा और बनाया। नये-नये पकवान बनाकर लोगों ने अपने आप को उसमे परिपक्व कर लिया। कहीं ना कहीं यही कारण है कि इस दिवाली सीजन में लोग बाहर की मिठाइयों की खरीदने से बचते हुए घर में खुद मिठाइयां बना रहे है।

मेवा बाजार में भी आई मंदी

सर्दियों की आमद अक्टूबर और दीवाली को देखते हुए यह वक्त पूरी तरह से मेवा बाजार का है। इसके साथ ही साथ शादी-ब्याह के भी खुब आर्डर आते रहते है। इन सबके बावजूद चौंकाने वाली बात यह है कि इस सीजन में मेवा के दाम लगातार गिर रहे हैं।  

(1) अमेरिकन बादाम 900 से 660 पर आ चुका है।

(2) काजू 1100 से 950 रुपये किलो पर आ चुका है।

(3) पिस्ता 1400 से 1100 रुपये किलो पर आ चुका है।

(4) किशमिश 400 रुपये किलो से उतरकर 350 पर बिक रही है। 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल