काशीवासियों को 614 करोड़ का दीपावली गिफ्ट, पीएम ने 30 परियोजनाओं का किया लोकार्पण व शिलान्यास

महादेव के आशीर्वाद से काशी के विकास की गंगा अविरल बहती रहेगी : नरेंद्र मोदी

दीपोत्सव पर लोकल फॉर वोकल के जरिए स्वदेशी उत्पादों के बढ़ावे पर दिया जोर

परियोजनाओं के लोकार्पण-शिलान्यास करते ही गूंज उठे ‘हर-हर महादेव’ के नारे



जितेन्द्र श्रीवास्तव

वाराणसी। वाराणसी की गौरवमयी विकास यात्रा में सोमवार काशीवासियों को बेहद खास रहा। काशी के सांसद एवं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दीपोत्सव के पूर्व काशीवासियों को 614 करोड़ का दीपावली गिफ्ट दिया। सोमवार को वर्चुअल सभा के माध्यम से पीएम मोदी ने जैसे ही रिमोट से 614 करोड़ रुपये की 30 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया, वैसे ही छह प्रमुख लाइव प्रसारण स्?थानों पर हर-हर महादेव के नारे गूंज उठे। लोगों ने तालियां बजाकर समारोह के दौरान विकास योजनाओं का काशी को समर्पित करने का स्?वागत किया। तालियां सभागारों से लेकर आयोजन स्?थलों तक गूंजती रहीं। पीएम मोदी ने काशीवासियों से संवाद भी किया। काशी का हाल जाना और बेहतरी की खातिर तमाम टिप्स भी दी। 

कोरोना काल में वाराणसी में एक दर्जन से ज्यादा परियोजनाएं पूरी हो चुकी हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 219.89 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण और 394.11 करोड़ से अधिक की परियोजनाओं का शिलान्यास किया है। वर्चुअल संवाद में काशी के लोगों को प्रणाम करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वाराणसी में विकास के जो कार्य हो रहे हैं। इसका लाभ बनारस के लोगों को मिल रहा है और इसमें बाबा काशी विश्वनाथ की कृपा है। बाबा भोलेनाथ के आशीर्वाद से काशी के विकास की गंगा अविरल बहती रहेगी। विकास की बात करते हुए पीएम ने कहा कि 19.8 करोड़ की लागत से शाही नाले के डायवर्जन, एसटीपी का निर्माण किया जा रहा है। शाही नाले के डायवर्जन से खिड़किया घाट से गंगा में जाने वाला सीवर रुकेगा। जहां पर शोधन करने के बाद पानी का इस्तेमाल सिंचाई के लिए किया जाएगा। पीएम मोदी ने कहा कि 23 करोड़ रुपये की लागत से स्मार्ट सिटी के तहत स्ट्रीट लाइटों को दुरुस्त किया गया है। आकर्षक लाइटिंग से कई इलाकों को चमकाया गया। जहां पर्यटन की संभावनाएं हैं, उन क्षेत्रों पर अधिक ध्यान दिया गया है। बाहर से आने वाले पर्यटकों और तीर्थयात्रियों को काशी सुंदर दिखेगी। कालभैरव वार्ड में साफ-सफाई देख प्रधानमंत्री ने इसे कायम रखने को कहा। पीएम मोदी ने कोरोना महामारी के पश्चात बनारस के बाजारों में और रौनक बढ़े तथा बनारस की साड़ी व्यापार और चमके, की भी कामना की।

विकास की चर्चा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि दशाश्वमेध घाट पर टूरिस्ट प्लाजा बनने से वह आने वाले समय में आकर्षण का केंद्र बनेगा। स्थानीय छोटे-छोटे दुकानदारों को भी सुविधा मिलेगी और ग्राहक भी बढ़ेंगे। काशी में धीरे-धीरे गंगा घाटों की तस्वीर बदल रही है। सारनाथ में लाइट एण्ड साउण्ड से भव्यता और बढ़ेगी। काशी के झूलते-लटकते विद्युत तार यहां की बड़ी समस्या रही। इससे अब काशीवासियों को निजात मिल रही है। पीएम ने काशी व उत्तर प्रदेश के बिना रुके व बिना थके हो रहे विकास और निर्माण कार्यों के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों समेत सरकारी मुलाजिमों को श्रेय दिया। 

पीएम मोदी ने लोकल फॉर वोकल के जरिए स्वदेशी उत्पादों के बढ़ावे पर जोर दिया। कहा कि लोकल फॉर वोकल का मतलब यह नहीं है कि घर में रखा कोई विदेशी सामान ले जाकर गंगा में फेंक दें। दीया या कोई ऐसा सामान, जो लोकल हो, उस को बढ़ावा दें। इस बार दीपावली पर लोकल समान ही खरीदें। उन्होंने अब तक काशी के 18000 करोड़ रुपये के विकास गौरव को घर-घर पहुंचाने का संदेश दिया। जंसा में किसान सेवा केंद्र एवं किसानों के खाद्यान्न रखने के लिए कपसेठी में 100 मीट्रिक टन क्षमता के बनाए गए गोदाम का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि किसान का श्रम केवल उसके लिए नहीं, बल्कि पूरे देश के काम आता है। कोरोना कॉल में जिस जीविटता से काशी ने लड़ाई लड़ी है और जिस सामाजिकता का परिचय दिया, वह प्रशंसनीय है। आज कई सौ करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं की काशी में शुरूआत हो रही है। उन्होंने काशी में जब कोई काम शुरू होता है तो उससे पूर्व काफी काम पूरा हो चुका होता है। आज 219.89 करोड़ रुपये की 16 परियोजनाओं का लोकार्पण हो रहा है, तो 394.11 करोड़ रुपये की 14 परियोजनाओं का शिलान्यास भी किया गया। 

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चांदपुर स्थित औद्योगिक आस्थान के उद्यमी विपिन अग्रवाल, वार्ड नंबर-85 कालभैरव निवासिनी गृहिणी नीलिमा मेहता और बॉस्केटबाल खिलाड़ी प्रशांति सिंह से संवाद किया। काशी के विकास के बाबत चर्चा की और इस बाबत उनके अनुभव जाने। लखनऊ से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस कार्यक्रम में जुड़ गए हैं और स्वागत भाषण दिया। मुख्यमंत्री ने पीएम के कोरोना संक्रमण के दौरान किये गए उपायों और विकास को लेकर अपनी बात रखी। मुख्?यमंत्री के संबोधन के बाद काशी के विकास पर आधारित एक संक्षिप्?त वृत्तचित्र भी ऑनलाइन प्रसारित किया गया।

वाराणसी का हो रहा चौतरफा विकास

पीएम मोदी ने कहा कि हमेशा प्रयास रहता है कि बनारस के लोगों की भावना के अनुरूप विकास का पहिया चलता एवं बढ़ता रहे। गंगा सफाई, शहर की आंतरिक एवं बाहरी सड़कों का निर्माण कार्य, यातायात व्यवस्था, सीवरेज, पेयजल, पुल आदि हर क्षेत्र में बनारस ने नई गति प्राप्त की हुई हैं। एसटीपी व शाही नाला से गंगा में सीवर पानी गिरने से रोकने के लिए डायवर्जन कार्य का लोकार्पण आज हुआ। एयरपोर्ट मार्ग तथा वहां पर नवनिर्मित दो पैसेंजर बोर्डिंग ब्रिज नई पहचान बनेंगे। इससे पर्यटकों को सुविधा बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि छह वर्ष पूर्व जब लोगों ने सेवा का अवसर दिया तो वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा से 12 फ्लाइट चलती थी, आज 48 फ्लाइट उड़ाने भरती हैं। इसका मतलब है कि यहां पर आने वालों की संख्या बढ़ रही है। काशी में सड़क जाम न हो, लोगों को सुगम यातायात की सुविधा मिले, इसके लिए नया इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ रहा है। सड़क इंफ्रास्ट्रक्चर का कायाकल्प होते दिख रहा है। वाराणसी में सड़क निर्माण की कई बड़ी परियोजनाओं पर कार्य शुरू हो गए हैं। वाराणसी रोडवेज के इस नेटवर्क के साथ वाटर कनेक्टिविटी में भी मॉडल बन रहा है। यहां पर देश का पहला इनलैंड वाटर-वे बन चुका है। काशी उत्तर प्रदेश ही नहीं पूरे पूर्वांचल के लिए चिकित्सा सुविधा का हब बन चुका है। वाराणसी में चौतरफा विकास हो रहा है। इससे पूर्वांचल ही नहीं पूरे पूर्वी भारत के लोगों को लाभ मिल रहा है। 

दलालों-बिचौलियों का वर्चस्व खत्म हो रहा

पीएम मोदी ने कहा कि वाराणसी से फल, सब्जी एवं धान पहली बार विदेशों को गया है। गांव, गरीब, किसान आत्मनिर्भर के सबसे बड़े स्तंभ व लाभार्थी भी हैं। बिचौलियों व दलालों को सिस्टम से बाहर किया जा रहा है। इसका लाभ किसान सहित सभी को मिलेगा। रेहड़ी-पटरी वालों को प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना से सबसे सरल तरीके से लोन मिल रहा है। कोरोना काल में आयी समस्या से उबरने के लिए उन्हें 10 हजार रुपये का सहयोग मिल रहा है। गांवों में भूमि विवाद समाप्त करने के लिए स्वामित्व योजना से प्रॉपर्टी कार्ड को दिया रहा है। इससे गांव में भूमि की समस्या समाप्त हो जाएगी। जमीनों पर अवैध कब्जे की समस्या का भी समाधान हो जाएगा। स्वामित्व कार्डधारक बैंकों से ऋण भी प्राप्त कर सकेंगे। 




Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल