गृहमंत्री को दी गई कोवैक्सीन ट्रायल की पहली डोज, सबकुछ सही रहा तो 2021 की पहली तिमाही में सिर्फ 20 रुपये में मिलेगी देशी वैक्सीन



जनसंदेश टाइम्स

नई दिल्ली। हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने स्वदेशी कोरोना वायरस वैक्सीन कोवैक्सीन के आखिरी दौर के ट्रायल के लिए डोज लिया। बता दें कि कोवैक्सीन का देशभर में 26 हजार लोगों पर डबल ब्लाइंड, रैंडमाइज्ड ट्रायल होगा। गृहमंत्री अनिल विज पर डोज देकर इस शुरूआत की गई।  विज ने खुद को पहला वालंटियर बनाने की पेशकश की थी। 

अंबाला के एक अस्पताल में कोवैक्सीन का पहला इंजेक्शन दिया गया। 14 दिन बाद उन्हें वैक्सीन की दूसरी डोज दी जाएगी। इस वैक्सीन का कोडनेम बीबीवी152 है। ट्रायल में सफल होने पर अगले साल की पहली तिमाही के बाद इस वैक्सीन के उपलब्ध होने की संभावना है। कोवैक्सीन को हैदराबाद की भारत बायोटेक ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च और नैशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वॉयरलॉजी के साथ मिलकर तैयार किया है। इसका फेज 1 ट्रायल 15 जुलाई से शुरू हुआ था।



कोवैक्सीन एक ‘इनऐक्टिवेटेड’ वैक्सीन है। यह उन कोरोना वायरस के पार्टिकल्स से बनी है जिन्हें मार दिया गया था, ताकि वें इन्फेक्ट न कर पाएं। इसकी डोज से शरीर में वायरस के खिलाफ ऐंटीबॉडीज बनती हैं। ये ऐंटीबॉडीज शरीर को कोरोना इन्फेक्शन से बचाती हैं। भारत बायोटेक के एमडी डॉ कृष्णा एल्ला ने कहा था कि वैक्सीन की कीमत एक पानी की बोतल के दाम से भी कम होगी। यानी इसका मतलब है कि वैक्सीन की एक डोज 20 रुपये से ज्यादा की नहीं होनी चाहिए।




Popular posts from this blog

यूपी में शादी समारोह में बैंड और डीजे पर भी लगा रोक, जिला प्रशासन से नहीं लेनी होगी अनुमति लेकिन........

करवाचौथ पर नहीं दिलाई 12 हजार की साड़ी तो पत्नी ने शो रूम के अंदर ही पति को जमकर पीटा

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी