स्मृति ईरानी का कांग्रेस पर बड़ा वार, जिनके दामाद किसानों जमीन लूटने में व्यस्त हैं वो डींगें हांकना छोड़ें

केंद्रीय मंत्री ने आईआईवीआर में आयोजित कार्यक्रम में कांग्रेस को जमकर लताड़ा


- कहा: देश का गरीब किसान उन्नति करे तो खत्म हो जाएगी कांग्रेस की राजनीति


- नये कृषि बिल पर सदन में बोलने का अवसर देने पर भी क्यों नहीं बोली कांग्रेस


- काशी के किसानों ने पेश किया है पीएम मोदी के ‘एक भारत-श्रेष्ठ’ का उदाहरण



सुरोजीत चैटर्जी
वाराणसी। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास और कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने नये कृषि सुधार बिल को लेकर कांग्रेस द्वारा चल रहे विरोध पर आरोप लगाया है कि जिनके दामाद किसानों की जमीनें लूटने में व्यस्त हैं वह इस विधेयक को लेकर डींगें हांकना छोड़ दें। देश का गरीब और किसान तरक्की करे तो कांग्रेस की राजनीति ही खत्म हो जाएगी, इसी छटपटाहट के चलते कांग्रेस कृषि बिल का विरोध कर रही है। कांग्रेस के नेता बताएं कि पूर्व की उनकी सरकार में गेहूं-धान की एमएसपी क्या थी और अब मोदी सरकार में क्या है। दूसरी ओर, काला धान और चावल पैदा कर काशी के किसानों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ का उदाहरण पेश किया है।


एकदिनी दौरे पर शनिवार को आयीं स्मृति ईरानी शहंशाहपुर स्थित भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान (आईआईवीआर) सभागार में आयोजित ‘किसान संवाद’ कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि हमारे किसान भाई माता अन्नपूर्णा से कम नहीं। सबसे अधिक मेहतन करने वाला किसान दशकों तक सबसे बदहाल स्थिति में रहा। अब पीएम मोदी उनका जीवन सुधारने के लिए कई ऐतिहासिक पहल कर रहे हैं तो कांग्रेस के पेट में दर्द हो रहा है।


स्मृति ने आरोप लगाते हुए कहा कि कृषि के तीन विधेयक जब सदन में पेश हुए तो अमेठी के पूर्व सांसद और कांग्रेस अध्यक्ष ने परिचर्चा के लिए अपने सांसदों को बोलने के लिए क्यों नहीं कहा। क्योंकि बिचौलियों का राज होगा तभी कांग्रेस की जेब भरती रहेगी।  दशकों तक किसानों को सिर्फ सपने दिखाने वालों ने उन सपनों को अमली जामा पहनाने की राजनीतिक ताकत नहीं दिखायी। किसान हित के खिलाफ कांग्रेस खड़ी है। मोदी की ही पहल पर देश में पहली बार 40 करोड़ गरीबों के बैंक खाते खोले गये। वहीं, किसान सम्मान निधि जैसी योजनाओं की शुरुआत की। एफपीओ को मजबूत किया जा रहा है।


केंद्रीय मंत्री ने पूर्व की कांग्रेस सरकार में धान व गेहूं आदि की एमएसपी की तुलना में मोदी सरकार में कई गुना बढ़ी एमएसपी की चर्चा करते हुए कहा कि कांग्रेस को इस बात की तकलीफ है कि पैसा अब सीधे किसान के खाते में जाएगा। उन्होंने नये कृषि बिल की विशेषताओं पर भी ध्यान दिलाया। साथ ही आरोप लगाया कि मोदी पर प्रत्येक  दिन कांग्रेस टिप्पणी करती है और लांछन लगाती है। जब तक जनता का आशीर्वाद रहेगा तब तक कांग्रेस या अन्य कोई मोदी का बाल बांका नहीं कर सकता। कार्यक्रम में भाजपा प्रदेश सहप्रभारी सुनील ओझा, क्षेत्रीय अध्यक्ष महेशचंद्र श्रीवास्तव, मंत्री रवींद्र जायसवाल और विधायकों में सौरभ श्रीवास्तव, डॉ. अवधेश सिंह, सुरेंद्र नारायण सिंह, भाजपा  की प्रमुख उपस्थिति रही। संचालन कृषि विभाग के दिनेश सिंह ने किया।



Popular posts from this blog

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी

1.5 करोड़ लेकर पत्नी ने किया पति का सौदा, किया प्रेमिका के हवाले

मेरी करनी का फल है लिखकर महिला दरोगा ने फंदे पर झूलकर दी जान