प्यार में बाधा बनी छोटी बहन तो प्रेमी के साथ मिलकर उतारा मौत के घाट, प्रेमी के साथ हुई गिरफ्तार

एक दिन पहले पिता ने दोनों बहनों के गायब होने की दी थी सूचना

जनसंदेश टाइम्स
मीरजापुर। यह प्यार का खुमार है, जिसमें रिश्तों का खून कर दिया जाता है। कमबख्त छोटी बहन को क्या पता था कि उसकी बड़ी बहन जिसकी गोद में वो खेलती थी, वहीं बहन भरोसे में लेकर रिश्तों का खुन कर देंगी। पड़री थाना क्षेत्र के भरुहिया गांव निवासी दिलीप सिंह ने गुरुवार की देर शाम पुलिस को सूचना दिया था कि उसकी दो पुत्री जो घर से सब्जी लेने गयी थी, वो देर शाम तक वापस नही आई। 


सूचना के बाद पुलिस सक्रिय हुई, जहां देर रात्रि बड़ी बहन अंजनी सिंह उम्र 15 वर्ष को पुलिस ने एक युवक प्रमोद के साथ बरामद किया। घटना के बाद पुलिस ने पूछताछ किया तो पता चला बड़ी के प्यार में बाधा बनने पर छोटी बहन को विश्वास में लेकर गला दबाकर हत्या कर दिया, वहीं शव को रेलवे ट्रेक पर फेंक दिया, जहां जहां अगली सुबह धौरा गांव रेलवे क्रासिंग के पास छोटी बहन नंदनी का शव बरामद हुआ। 


घटना का खुलासा करते हुए प्रभारी एसपी संजय कुमार ने बताया कि दो बहन के गायब होने की खबर के बाद पुलिस सक्रिय हुई थी, जहां रात्रि 2.50 बजे के पुलिस ने मोटरसाइकिल सवार बड़ी बहन अंजनी उसके प्रेमी को बरामद किया। पूछताछ में अंजनी ने बताया कि छोटी बहन उसके प्यार में बाधा बनती थी, जहां वो प्रेमी से मिलने की बात पिताजी को बता दिया करती थी। यहीं नही घरवालों के द्वारा छोटी बहन को ज्यादा प्यार दिया जाता था। 


जिसके बाद हम दोनों बहन पड़ोसी के घर से साइकिल लेकर दोनों बहन निकली, जहां पड़री के इमरती चौराहा पहुंचे। इमरती चौराहा पर साइकिल छोड़कर दोनों बहन अंजनी के प्रेमी प्रमोद बिंद के साथ दोनों बाइक से शहर चले आये, दिन का समय व्यतीत करने के बाद देर शाम तीनों लक्षापट्टी पुलिया पर आये, जहां दो से तीन घण्टा का वक्त बिताया। 


वक्त बिताने के बाद जब छोटी बहन सो गई तो प्रेमी ने पैर हाथ पकड़ा, वही बहन ने गला दबाकर हत्या कर दिया। घटना में आरोपी प्रेमी प्रमोद बिंद, पुत्र रामलाल बिंद निवासी भरुहिया व बहन अंजनी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। गिरफ्तार करने वाली टीम को आईजी ने 25 हजार का इनाम दिया।



दो वर्षों से चल रहा था प्रेम संबंध
पड़री थाना क्षेत्र के भरूहिया में बहन ने प्रेमी के साथ मिलकर छोटी बहन की हत्या कर दिया। बताया जाता है कि प्रेमी भी उसी गांव का निवासी है, जहां दोनों का दो वर्षों से प्रेम प्रसंग चल रहा था। एक वर्ष पूर्व प्रेम प्रसंग की जानकारी पिता को भी चला था, जिसके बाद पिता ने फटकार लगाया था। छोटी बहन इन दोनों की बात घर पर बता देती थी, जिसके बाद बड़ी बहन ने प्रेमी ने घटना को अंजाम दिया। दोनों के गायब होने की सूचना के बाद पुलिस की टीम ने 10 स्थान पर दबिश दिया था। गिरफ्तार करने वाली टीम में पड़री थाना प्रभारी वेंकटेश तिवारी, पैड़ापुर चौकी प्रभारी संजय कुमार मय फोर्स रही। 



साथ में कपड़ा भी खरीदा, वहीं खाया था खाना
पड़री के भरुहिया गांव से दोनों बहन अंजनी व नंदनी साइकिल से निकली। रास्ते में दोनों चाचा ने दोनों को देखा था, जिसके बाद छोटी बहन मुस्कुराई थी, वहीं दोनों चले गए। थोड़ी दूरी तय करने के बाद दोनों बहन ने साइकिल को पड़री के नटवा के डेरा पर खड़ी करके प्रेमी के मोटरसाइकिल पर बैठकर तीनों शहर में आये, जहां शास्त्री पुल पर घूमने के बाद कचहरी आये, जहां पर कपड़ा खरीदा, वहीं होटल में खाना खाया। 


खाना खाने के बाद तीनों देर रात्रि धौरा स्थित रेलवे लाइन पहुंचे, जहां छोटी बहन नंदनी को नींद आने के बाद दोनों ने गला दबाकर हत्या करके शव को रेलवे ट्रेक पर फेक दिया। पहली बार में पैर कटने के बाद दूसरी बार शव को ट्रेन के सामने फेंका। शव फेकने के बाद दोनों वापस आ रहे थे कि बाइक में तेल खत्म हो गया, जहां धक्का देकर आते समय पुलिस ने पकड़ लिया।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल