मायावती की केंद्र सरकार से मांग, सीएम योगी आदित्यनाथ को हटाकर मठ में वापस बैठा दें


उत्तर प्रदेश में महिलाओं व युवतियों के साथ हो रही घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। हाथरस के बाद बलरामपुर में हुई दलित छात्रा के साथ दरिंदों ने हैवानियत की सारी हदें पार कर दी हैं। छात्रा से गैंगरेप के बाद उसकी कमर और पैर तोड़ दिए गए। घायल हालत में घर पहुंची पीड़िता की अस्पताल ले जाने के दौरान मौत हो गई। यूपी की इन दो दिल दहलाने देने वाली घटनाओं के बाद मायावती ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोला है। मायावती ने केंद्र से मांग की कि सीएम योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री पद से हटकर वापस उनके मठ में भेजें। बसपा सुप्रीम मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि हाथरस की घटना के बाद मुझे ऐसा लग रहा था कि शायद यूपी सरकार कुछ हरकत में आएगी। यूपी के मनचले लोग जो बहन-बेटियों का उत्पीड़न कर रहे हैं, उन पर अंकुश लगाएगी, पर ऐसा नहीं हुआ।


आज सुबह मैंने बलरामपुर की एक घटना न्यूज़ में देखी जिसने मुझे झकझोर कर रख दिया। मायावती ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश में वर्तमान भाजपा सरकार में कानून का नहीं बल्कि गुंडों, बदमाशों, माफियाओं, बलात्कारियों एवं अन्य अराजक तत्वों का राज चल रहा है। यहां की कानून व्यवस्था पूरी तरह से दम तोड़ चुकी है। खासकर इस सरकार में यहां की बहन-बेटियां बिलकुल सुरक्षित नहीं है। मायावती ने कहा कि आरएसएस के दबाव में बीजेपी ने योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री तो बना दिया, लेकिन अब उनसे प्रदेश नहीं संभल रहा है। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की कि सीएम योगी आदित्यनाथ को हटाकर किसी अन्य को मुख्यमंत्री बनाया जाए।


Popular posts from this blog

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी

1.5 करोड़ लेकर पत्नी ने किया पति का सौदा, किया प्रेमिका के हवाले

मेरी करनी का फल है लिखकर महिला दरोगा ने फंदे पर झूलकर दी जान