कुशीनगर में दंपती की हत्या से तनाव, एसडीएम के आश्वासन पर शवों के दाह संस्कार को राजी हुए परिजन


 तरयासुजान थाने के गांव परसौनी बुजुर्ग में दम्पति के हत्या का मामला


मृतक के बेटे ने उपजिलाधिकारी को सौंपा मांग पत्र


तमकुहीराज, कुशीनगर। बुधवार को सुबह तरयासुजान थाना क्षेत्र के गांव परसौनी बुजुर्ग तब पुलिस छावनी में तब्दील हो गया, जब मृतक दम्पति के परिजन उनके शव को गांव के ही एक व्यक्ति के दरवाजे पर रख धरने पर बैठ गये। पुलिस उन्हें मनाने का बहुत प्रयास की, लेकिन वे नहीं माने। अंततः उपजिलाधिकारी ने मौके पर पहुँचेे और उनकी बात सुनी। उनकी मांगों को ऊपर तक पहुँचाने का भरोसा दिलाया। मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए राजी किया।


बीते सोमवार की देर रात में गांव के ही रामशंकर राजभर ने बुधन राजभर व उनकी पत्नी शनकेसिया की गला काटकर हत्या कर दी थी। उधर पीएम से शव के आने के बाद परिजन दोनों शव को गांव के ही एक महिला नेता के दरवाजे पर रख हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पर गांव में भारी पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी। इस तरह ग्रामीण जहां अपने घरों में कैद हो गये, वही पूरा गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। परिजन मांग कर रहे थे कि हत्यारोपी एवं उसके सहयोगियों की गिरफ्तारी की जाय साथ ही दोनों मृतकों के नाम पर पच्चीस पच्चीस लाख रुपये मुआवजा के साथ परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाय।
परिजनों के शव के साथ दूसरे के दरवाजे पर धरने पर बैठने की खबर पाकर पुलिस क्षेत्राधिकारी तमकुहीराज फूलचंद कनौजिया मौके पर पहुँच परिजनों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने। कुछ देर बाद उपजिलाधिकारी तमकुहीराज ए आर फारूकी भी पहुँच गये। वे परिजनों की बात सुनी और उनके मांगों को ऊपर तक पहुँचाकर हर संभव मदद दिलाने का भरोसा दिलाया। इस दौरान मृतक के पुत्र भीम ने उपजिलाधिकारी को एक मांग पत्र भी सौंपा और अपने माता पिता का अंतिम संस्कार करने को राजी हुआ, जिसके बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल