करेंसी नोट से कोरोना संक्रमण फैलाने के असर बहुत ज्यादा



आरबीआई ने कैट को दिया जबाव


नई दिल्ली। कोरोना काल में करेंसी नोट को सुरक्षित नहीं समझें। दरअसल रिजर्व बैंक का कहना है कि करंसी नोटों से किसी भी प्रकार का वायरस एक दूसरे के बीच फैल सकता है। रिजर्व बैंक ने यह जानकारी कारोबारियों के संगठन कंफेडरेशन आॅफ आॅल इंडिया ट्रेडर्स को दी है। दरअसल, कैट ने पूछा था कि क्या करंसी नोट बैक्टीरिया और वायरस फैलाने में सक्षम हैं? इसके जवाब में यह मेल आया है। कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल के मुताबिक बीते 9 मार्च, 2020 को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला को पत्र भेज कर पूछा गया था कि क्या करंसी नोट बैक्टीरिया और वायरस के वाहक हैं? उस पत्र को वित्त मंत्रालय ने रिजर्व बैंक को भेज दिया था। इस पर रिजर्व बैंक ने 3 अक्टूबर, 2020 को एक मेल के माध्यम से कैट को दिए अपने जवाब में ऐसा संकेत दिया है। रिजर्व बैंक ने कहा है कोरोना महामारी को सीमित करने के लिए लोग अपने घरों से ही सुविधापूर्वक मोबाइल बैंकिंग, इंटरनेट बैंकिंग, कार्ड इत्यादि जैसे आॅनलाइन चैनलों के माध्यम से डिजिटल भुगतान कर सकते है। इससे करंसी का उपयोग करने अथवा एटीएम से नकदी निकालने से बच सकते हैं। इसके अलावा समय-समय पर अधिकारियों द्वारा जारी कोविड पर सार्वजनिक स्वास्थ्य दिशानिदेर्शों का कड़ाई से पालन किया जाना आवश्यक है। 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल