चंदौली पॉलिटेक्निक की खस्ता हालत, शिक्षक ना संसाधन, विद्यार्थी को दूर की बात



जनसंदेश न्यूज़
चंदौली। जनपद में स्थित पंडित कमलापति त्रिपाठी पॉलिटेक्निक कॉलेज की दुर्दशा को लेकर लायंस सेवा संगम ने चंदौली सांसद महेन्द्रनाथ पाण्डेय, कमिश्नर वाराणसी, डीएम चंदौली का ध्यान आकृष्ट कराया। संस्था ने अपील किया कि 1957 में माननीय कमलापति त्रिपाठी के नाम से स्थापित इस कॉलेज में व्याप्त दुर्व्यवस्था को दुरूस्त किया जाये। जिससे इसमें अध्ययनरत विद्यार्थियों को उचित सुविधाएं व गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिल सके। 


संस्था के अनुसार उक्त कालेज में दो दशक पूर्व तक 36 से 40 अध्यापक कार्यरत थे, लेकिन वर्तमान में स्थिति यह है कि इसमें सिर्फ 6 प्रवक्ता ही बचे है। आलम यह है कि किसी भी विभाग में एक भी वरिष्ठ प्रवक्ता नहीं है। इसके साथ ही कार्यशाला में 10 की जगह 2 ही प्रशिक्षक है। कॉलेज में दो दशकों में सिर्फ एक कम्प्यूटर प्रवक्ता की नियुक्ति हुई और तो और कृषि प्रवक्ता ही कालेज के प्राधानाचार्य की जिम्मेदारी संभाल रहे है। कॉलेज में लाखों की मशीने सफाई ना होने के कारण जंग खा रही है।  


 
बताया कि एक ऐसी संस्था जिसके पदेन अधिकारी वाराणसी आयुक्त व उपाध्यक्ष जिलाधिकारी चंदौली है। ये अधिकारी भी कभी इसकी दुर्दशा को लेकर चिंतित नहीं हुए। वहीं पूर्व क्षेत्र के संयुक्त निदेशक कॉलेज में केवल दो बार प्रवेश के समय और परीक्षा के समय निरीक्षण करने पहुंचते है। आरोप है कि जब कॉलेज में शिक्षक ही नहीं होंगे तो कोर्स किस आधार पर पूरा होगा और बच्चे परीक्षा कैसे देंगे। 


संस्था ने आरोप लगाया कि पॉलिटेक्निक दुर्व्यवस्था को दरकिनार कर पूरा निदेशालय ही भ्रष्टाचार में संलिप्त है। कॉलेज के कार्यरत और सेवानिवृत्व कर्मचारियों का कई माह का भत्ता नहीं मिला है, लेकिन उक्त अधिकारी प्रपत्रों को आगे बढ़ाने की बजाय दबाये पड़े बैठे है। आलम यह है कि 1 जनवरी 2016 का पुनरीक्षित वेतन बिल आज तक प्राप्त नहीं हुआ। इसी क्षेत्र के सांसद महेन्द्रनाथ पाण्डेय मानव संसाधन विकास मंत्री है, उसके बावजूद वें भी इस पर कुछ ध्यान नहीं दिये। अगर ऐसा ही रहा तो निश्चित रूप से छात्रों का भविष्य अधर में लटका रहेगा। मांग किया कि आयुक्त वाराणसी, क्षेत्रीय सांसद व जिलाधिकारी चंदौली सहित अन्य मंत्रीगण छात्रों के भविष्य को अंधकारमय ना होने दे और पॉलिटेक्निक कार्य में व्याप्त दुर्व्यवस्था को तत्काल दूर किया जाये। 



Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल