सैलरी मांगना संविदा कर्मचारी को पड़ा महंगा, नाराज सीएमओ ने बीवी और दो मासूम बच्चों के साथ भेजा जेल

 


जनसंदेश न्यूज़

लखनऊ। यूपी के अलीगढ़ में एक संविदा कर्मचारी को सीएमओ से वेतन मांगना महंगा पड़ गया। नाराज सीएमओ ने संविदा कर्मचारी केा बीवी बच्चे सहित जेल भेज दिया। आरोप है कि कर्मचारी ने सीएमओ से ऊंची आवाज में बात कर ली, जिससे वें नाराज हो गये। सीएमओ ने कर्मचारी को उसके दो मासूम बच्चों और बीवी सहित 151 की धारा में डीएम कार्यालय से जेल भिजवा दिया।

अलीगढ़ मुख्य चिकित्सा अधिकारी के कार्यालय में संविदा पर तैनात डाटा एंट्री ऑपरेटर चंद्रवीर का विभाग में किसी से विवाद चल रहा था। इस विवाद की शिकायत मुख्य चिकित्सा अधिकारी भानु प्रताप सिंह से की गई। जिसके बाद मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा 1 जुलाई को ऑपरेटर चंद्रवीर सिंह की संविदा समाप्त कर दी।

जिसके बाद चंद्रवीर सिंह उक्त प्रकरण की शिकायत लेकर जिलाधिकारी के पास पहुंचे जहां जिलाधिकारी ने चंद्रवीर को अपने कार्यालय में ड्यूटी करने को कहा। उसी दिन से लगातार चंद्रवीर जिलाधिकारी कार्यालय में नौकरी कर रहे थे। तीन माह पूरे हो जाने के बावजूद भी चंद्रवीर को एक दिन की भी वेतन नहीं दिया गया।

जिसकी शिकायत चंद्रवीर सिंह सोमवार को जिलाधिकारी कार्यालय में की गई, तो सीडीओ के द्वारा चंद्रवीर सिंह से कार्यालय से अपने घर जाने का फरमान सुना दिया गया। जिसके बाद चंद्रवीर सिंह अपने दो मासूम बच्चों और बीवी सहित जिलाधिकारी से मिलने के लिए उनके कार्यालय पहुंचे। जहां पर सीएमओ के द्वारा चंद्रवीर सिंह व उनके बच्चों को एक गाड़ी में भरवा कर थाने भिजवा दिया। इस घटना के बाद कर्मचारियों में चर्चा बनी हुई है।




Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल