गांव के युवती की गला दबाकर की हत्या और फिर थाने जाकर किया इकबाल-ए-जुर्म



बृजराज

मऊ। थाना सरायलखंसी के ताजपुर पतिला के मौजा उस्मानपुर निवासी दिव्यांग उषा यादव 40 पुत्री स्व. रामधारी यादव की बीती रात ग्यारह बजे के करीब में गला दबाकर हत्या कर दी गयी। हत्यारोपी हरिकेश यादव ने रात को ही पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया।

थाना सरायलखंसी के ताजपुर पतिला मौजा उस्मानपुर गांव की निवासी दिव्यांग उषा यादव की उसी गांव के निवासी हरिकेश यादव (25) पुत्र स्व.शिवबली यादव ने बीतीरात रात ग्यारह बजे के करीब में उषा यादव के घर पीछे से छत के रास्ते चढ कर घर में सो रही उषा की गला दबा कर हत्या कर दी।

हत्या करने के बाद हत्यारोपी हरिकेश यादव रात में ही पिपरीडीह पुलिस चौकी पर जाकर वहां पर मौजूद पुलिसकर्मियों को हत्या करने की जानकारी दी। पिपरीडीह चौकी पर तैनात पुलिस कर्मियों ने इस घटना की सुचना उच्च अधिकारियों को तत्काल दी। पुलिस हत्यारोपी को पकड़ कर घटनास्थल पर ले आई तथा मृतका के परिजनों को मौके पर बुलाया तथा घटना की तस्दीक की। 

घटना की सुचना मिलते ही सरायलखंसी थानाध्यक्ष तथा सीओ रात में ही मौके पर आकर घटना की बारीकियों से जांच की। तथा शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु जिला अस्पताल भेजवा दिया। वही मृतका तीन बहनों आशा, पुष्पा तथा दो भाई बैजनाथ और श्री राम में छोटी थी। ज्ञात जानकारी के अनुसार मृतका उषा यादव अपने परिवार से अलग गांव के बाहर सरकारी आवास में रहती थी।

गांव वालों के मुताबिक मृतका को लगभग दस दिन से जान से मारने की धमकियां मिल रही थी। जो इसकी शिकायत सीओ तथा एसओ सरायलखंसी से भी की थी। इस संबध में अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी का कहना है कि मृतका का हत्यारोपी से मुकदमा चल रहा था। हत्यारोपी मुकदमा सुलह करने का दबाव बना रहा था। इसी कारण हत्या हुई है।




Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल