मिट्टी का टीला ढहने से दबे तीन बच्चे, कोहराम, पूर्वांचल एक्सप्रेस के लिए खोदाा गया है गढ्ढा


तीन बच्चों में दो की हालत गंभीर

पूर्वाचल एक्सप्रेस वें निर्माण में खेतों में बने गड्ढ़े जानलेवा

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर


अजय सिंह उर्फ राजू

भांवरकोल/गाजीपुर। स्थानीय थाना क्षेत्र के कुन्डेसर में शुक्रवार को मिट्टी का टीला ढह जाने से तीन बच्चे दब गए। हादसे के बाद खेतों में मौजूद लोग दौड़ पड़े और मिट्टी हटाकर तीन बच्चों को बाहर निकाला। इनमें दो बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गए। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ग्रामीणों ने बताया कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वें के तहत सिक्स लेन की सड़क निर्माण में खेतों से मिट्टी निकाली गई थी। जिसमें सुरंग बन गया था। ये बच्चे खेलने के लिए मिट्टी के टीले के पास गए थे। खेल के दौरान अचानक टीला धसक गया और तीनों बच्चे मिट्टी के नीचे दब गए। ग्रामीणों ने मिलकर सभी बच्चों को बाहर निकाला।

भांवरकोल थाना क्षेत्र के कुंडेसर गांव में शेरपुर मार्ग पर बन रही सिक्स लेन की फ्लाई ओवर ब्रिज के लिए काटे गए मिट्टी लगभग पांच फीट ऊंची नाले की आकार का हो गया था। जिसमें गांव के लड़के खेलने के लिए सुरंग बना दिए थे और सुबह साढ़े आठ बजे तीन बच्चे खेल रहे थे और अचानक सुरंग बने टीले की मिट्टी भरभरा कर तीनों की शरीर पर गिर गया।

जिसमें जितेंद्र राम उम्र 12 वर्ष पुत्र नंदू राम, विवेक राम उम्र 8 वर्ष पुत्र वीरेंद्र राम, विक्रम राम उम्र 10 वर्ष पुत्र खरपतूराम बुरी तरह से घायल हो गए। ग्रामीणों ने मिलकर मिट्टी को हटाया और आनन-फानन में जितेंद्र राम और विवेक राम को मोहम्मदाबाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए। जहां पर हालत गंभीर होने से दोनों को जिला मुख्यालय के लिए रेफर कर दिया गया। परिजनों ने बताया कि जितेंद्र राम की कमर की हड्डी टूट गई है और वह ज्यादा गंभीर है।




Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल