प्रेम विवाह करवाना पड़ा महंगा, महिला थाना प्रभारी लाइनहाजिर, जबरन शादी कराने का आरोप!

 


कमलेश तिवारी

अलीनगर/चंदौली। थाना परिसर में बीते बुधवार को शादीशुदा महिला की उसके प्रेमी के साथ शादी कराना और कोविड प्रोटोकाल तोड़ना महिला थाना प्रभारी को भारी पड़ा। युवक के पिता ने एसपी को प्रार्थना पत्र देकर जबरन शादी कराने का आरोप लगाया था। एसपी हेमंत कुटियाल ने मामले को गंभीरता से लेते हुए महिला थाना प्रभारी शशि सिंह को लाइन हाजिर कर दिया है। एएसपी प्रकारण की जांच कर रहे हैं। जांच में शिकायतों की पुष्टि हुई तो महिला दारोगा के खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी की जा सकती है।

ये है पूरा मामला

अलीनगर थाना क्षेत्र निवासी युवती की शादी शहाबगंज थाने के जरखोर गांव में विगत दस वर्ष पूर्व हुई थी। महिला के आठ और छह वर्ष के दो बच्चे भी हैं फिलहाल अपने पिता के साथ रहते हैं। महिला लाकडाउन में अपने मायके आई तो ननिहाल के एक युवक से उसका प्रेम संबंध हो गया। 

हालांकि युवक शादी के लिए तैयार नहीं था और चार महीने से महिला को टरका रहा था। लेकिन महिला उसके साथ रहने के लिए अड़ गई। मामला अलीनगर महिला थाना पहुंचा। काफी जद्दोजहद और पंचायत के बाद महिला थाना प्रभारी शशि सिंह ने प्रेमी जोड़ों की मंदिर में शादी करा दी। हालांकि शादी की जानकारी होने पर महिला का पति भी थाने पहुंचा था। लेकिन दूर खड़ा पत्नी को शादी करते देखता भर रह गया। 

वैसे यह भी आरोप है कि पहले पति को महिला के संबंधों का पता चला था, उसने भी पत्नी को साथ रखने से इंकार कर दिया था। हालांकि युवक के पिता ने पुलिस पर जबरन शादी कराने का आरोप लगाते हुए एसपी कार्यालय पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई। आरोप लगाया कि उनका लड़का महज 20 वर्ष का है, जबकि महिला शादीशुदा और दो बच्चों की मां है, जिसकी उम्र 38 वर्ष है। शादी का विरोध करने पर उसे पुलिसवालों ने गाली-गलौच देकर भगा दिया। वहीं शादी के दौरान प्रोटोकाल के उल्लंघन की बात भी सामने आई थी।



Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल