भारत में इस राज्य की सरकार ने प्रदेश के सभी मदरसों को बंद करने का लिया निर्णय, अधिसूचना जारी कर.....

असम के शिक्षा मंत्री ने बताया कि अधिसूचना जारी कर नवंबर से बंद किये जायेंगे मदरसे



जनसंदेश न्यूज़

नई दिल्ली। असम की भारतीय जनता पार्टी (BJP) सरकार ने बुधवार को एक बड़ा फैसला किया। सरकार ने नवंबर से राज्य में सभी मदरसे स्कूल को बंद करने का निर्णय लिया है। असम के भाजपा विधायक (BJP MLA) और शिक्षा मंत्री हिमंत बिस्वा (Education Minister Himanta Biswa)ने इस संबंध में बताया कि नवंबर में सभी राज्य संचालित मदरसों को बंद करने के बारे में एक अधिसूचना जारी की जाएगी। इसके साथ ही राज्य में लगभग 100 संस्कृत स्कूल भी बंद किये जायेंगे।

उन्होंने बताया कि “सभी राज्य संचालित मदरसों को नियमित स्कूलों में परिवर्तित किया जाएगा या कुछ मामलों में शिक्षकों को राज्य संचालित स्कूलों में स्थानांतरित किया जाएगा और मदरसों को बंद कर दिया जाएगा। इसके लिए नवंबर में एक अधिसूचना जारी की जाएगी।”

बीजेपी की अगुवाई वाली असम सरकार ने धार्मिक संस्थानों पर पैसा खर्च नहीं करने के लिए, मदरसों को नियमित स्कूलों में बदलने या शिक्षकों को अन्य स्कूलों में स्थानांतरित करने और उन्हें बंद करने का निर्णय लिया है।

आपको बता दें कि मदरसे शैक्षिक संस्थान हैं जहां कुरान और इस्लामी कानून को गणित, व्याकरण, कविता और इतिहास के साथ पढ़ाया जाता है। शैक्षणिक और शोध वेबसाइट द कन्वर्सेशन पर प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत सरकार की रिपोर्ट है कि 4 प्रतिशत मुस्लिम छात्र देश के मदरसों में पढ़ते हैं।




Popular posts from this blog

'चिंटू जिया' पर लहालोट हुए पूर्वांचल के किसान

चकिया में देवर ने भाभी के लाखों के गहने और नगदी उड़ाये, आईपीएल में सट्टे व गलत आदतों में किया खर्च, एएसपी ने किया खुलासा

कुशवाहा कांतःअनुभूतियों में हमेशा जिंदा रहेंगे कालजयी साहित्य के अमर शिल्पी