अर्थव्यवस्था में जान डालने के लिए निर्मला सीतारमण ने किए बड़े ऐलान


 


कर्मचारियों को छुट्टियों के बदले मिलेंगे कैश वाउचर, विशेष अग्रिम उत्सव योजना के तहत 10 हजार रुपये का ब्याजमुक्त लोन, अतिरिक्त 37 हजार करोड़ के पूँजीगत व्यय करने की भी घोषणा

नई दिल्ली। कोरोना के कारण बुरी तरह से प्रभावित अर्थव्यवस्था को गति प्रदान करने और त्योहारी सीजन में उपभोक्ता माँग बढ़ाने पर जोर देते हुये केन्द्र सरकार ने सोमवार को केन्द्रीय कर्मचारियों के लिए अवकाश यात्रा छूट (एलटीसी) कैश वाउचर योजना, विशेष उत्सव अग्रिम योजना और अतिरिक्त 37 हजार करोड़ रुपये के पूँजीगत व्यय करने की घोषणा करते हुये कहा कि इन उपायों से करीब एक लाख करोड़ रुपये की माँग बढ़ने में मदद मिल सकेगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने यहाँ संवाददाताओं से चर्चा में ये घोषणायें की।
कंज्यूमर खर्च बढ़ाने के लिए एलटीसी के तहत कैश वाउचर स्कीम का ऐलान किया गया है। वित्त मंत्री ने केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए लीव ट्रैवल कंसेशन को लेकर विशेष ऐलान किया है। इसके तहत केंद्रीय कर्मचारियों को 4 साल में एक बार एलटीसी का लाभ दिया जाएगा। एक एलटीसी उन्हें भारत में कहीं भी घूमने के लिए और एक होमटाउन जाने के लिए दिया जाएगा। भारत में कहीं और नहीं घूमने की स्थिति में होमटाउन जाने के लिए दो बार एलटीसी का लाभ दिया जाएगा। इस स्कीम के तहत कर्मचारियों के स्केल और पद के आधार पर उन्हें हवाई या ट्रेन यात्रा की प्रतिपूर्ति दी जाएगी। इसके अलावा 10 दिन की छुट्टी (पे+डीए) का भी प्रावधान होगा।
वित्त मंत्री ने बताया कि एलटीसी कैश वाउचर स्कीम के तहत सरकारी कर्मचारियों के पास लीव इनकैशमेंट के बाद कैश प्राप्त करने का विकल्प होगा। उन्हें तीन बार के लिए टिकट किराया, 12 फीसदी या उससे ज्यादा जीएसटी देयता वाले प्रोडक्ट्स खरीदने का खर्च दिया जाएगा। इसके लिए केवल डिजिटल लेनदेन की ही अनुमति होगी और जीएसटी इनवॉइस भी जमा करनी होगी। सरकार को उम्मीद है कि एलटीसी कैश वाउचर स्कीम से करीब 28,000 करोड़ रुपये के कंज्यूमर मांग बढ़ाने में मदद मिलेगी। केंद्रीय कर्मचारियों द्वारा इन विकल्पों को चुने जाने की स्थिति में सरकार पर 5,675 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। पब्लिक सेक्टर बैंक और सरकारी कंपनियों के कर्मचारी इसका लाभ ले सकते हैं। वित्त मंत्री ने बताया कि एलटीसी टिकटों राज्य कर्मचारी और प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों को टैक्स छूट का भी लाभ मिलेगा।
वहीं केन्द्रीय कर्मचारियों के लिए विशेष उत्सव अग्रिम योजना की भी शुरुआत की जा रही है, इसके तहत प्रत्यके कर्मचारी को 10 हजार रुपये का अग्रिम मिलेगा जिसका अधिकतम 10 महीने में ब्याज मुक्त भुगतान करना होगा। यह अग्रिम राशि रुपे कार्ड के माध्यम से दी जायेगी और कार्ड से नकद नहीं निकाला जा सकेगा। उससे सिर्फ खरीददारी की जा सकेगी। अगले साल 31 मार्च तक कार्ड की राशि का जिनता उपयोग किया जायेगा उतना ही अग्रिम माना जायेगा। 

Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल