सांप ने दो वर्षीय मासूम और आश्रम के ब्रम्हचारी बाबा को बनाया निशाना, दोनों की मौत



सुजीत दूबे/पवन यादव                                                                   

मीरजापुर। जनपद के विभिन्न थाना क्षेत्रों में सर्पदंश से एक बालक समेत एक महाराज की मौत हो गई। पहली घटना मड़िहान थाना क्षेत्र के रैकरी गांव में गुरुवार की दोपहर में सर्पदंश से दो वर्षीय बालक की मौत हो गई। बालक की मौत से परिवार कोहराम मचा हुआ है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार मड़िहान थाना क्षेत्र के रैकरी गांव में गुरुवार की दोपहर में भोनू बिन्द का दो वर्षीय पुत्र आंगन में खेल रहा था कि उसी समय किसी जहरीले सर्प ने उसे डंस लिया। जिससे वह बेहोश हो गया। बेहोशी की हालत में परिजन उसे झाड़-फूंक के लिए यहां-वहां भटकते रहे लेकिन अंतोगत्वा बालक की देर शाम मौत हो गई। बालक की अकस्मात मौत से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। 

वहीं दूसरी घटना चील्ह थाना क्षेत्र के नरसिंहपुर में सांप काटने से एक महराज की भी मौत हो गई। जिसके संबंध में जानकारी के अनुसार शुक्रवार की सुबह 5 बजे महराज ब्रह्मचारी बाबा आश्रम में सोकर उठे। उसी वक्त जहरीले सांप ने काट लिया। जहां आश्रम में मौजूद दो लड़कों ने सांप को काटकर भागते हुए देखा। सांप दीवार से सटे बिल में घुस गया। लड़कों की आवाज पर गांव के लोग जुटे लेकिन महराज को बचाया नहीं जा सका। 

बताया जाता है कि महराज इस आश्रम में 20 साल की उम्र से अपने गुरु की सेवा में मथुरा से आए थे। इन दिनों उनकी उम्र 70 वर्ष की थी। लगभग 50 सालों में महराज के प्रति क्षेत्रीय लोग पूर्ण श्रद्धा-भाव रखते थे। भगवान शंकर की पूजा-अर्चना करते-करते महराज भी सर्वहित के लिए समर्पित थे। उनके इस तरह जीवन छोड़ने से क्षेत्र में शोक व्याप्त हो गया।  वहीं महराज के भक्तों के घर शोक के कारण चूल्हे तक नहीं जले।




Popular posts from this blog

'चिंटू जिया' पर लहालोट हुए पूर्वांचल के किसान

चकिया में देवर ने भाभी के लाखों के गहने और नगदी उड़ाये, आईपीएल में सट्टे व गलत आदतों में किया खर्च, एएसपी ने किया खुलासा

नलकूप के नाली पर पीडब्लूडी विभाग ने किया अतिक्रमण, सड़क निर्माण में धांधली की सूचना मिलते ही जांच करने पहुंचे सीडीओ, जमकर लगाई फटकार