अंडरवर्ल्ड से ताल्लुक रखने वाले फरार चल रहे शार्प शूटर राजेश का मकान ढहाया, पीडीए की कार्रवाई से हड़कंप



डॉ सुधाकर पांडेय

प्रयागराज। अंडरवर्ल्ड से ताल्लुकात रखने वाले शार्प शूटर राजेश यादव का कटका झूंसी स्थित मकान को पीडीए ने शुक्रवार को जमींदोज कर दिया स राजेश यादव अंडरवर्ल्ड गैंग का सक्रिय सदस्य बताया जाता है। उसके खिलाफ प्रयागराज ही नहीं अन्य प्रदेश के जनपदों में भी कई धाराओं में अपराधिक मुकदमे दर्ज हैंस प्रयागराज विकास प्राधिकरण के अधिकारी और पुलिस फोर्स शुक्रवार दोपहर झूंसी स्थित कटका मोहल्ले में पहुंची। तो लोगों का जमावड़ा लग गया। तभी पीडीए के अधिकारियों ने  राजेश यादव के मकान की चौहद्दी देख जेसीबी से गिराने की कार्रवाई शुरू कर दी।

आपको बताते चलें कि प्रदेश की योगी सरकार अपराधियों पर तथा उनके संपत्तियों पर जबरदस्त तरीके से शिकंजा कस रही है। जिस इलाके में माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही हो रही है उस इलाके के छोटा-मोटा अपराध करने वाले लोग भी दहशत में है।

प्रयागराज के माफिया अतीक अहमद और पूर्व ब्लाक प्रमुख दिलीप मिश्रा की अवैध संपत्तियों पर कार्रवाई के बाद अब राजेश यादव पर भी पीडीए को पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है। पीडीए के अधिकारियों का दावा है कि राजेश यादव ने बिना मानचित्र स्वीकृत कराए ही मकान का गलत तरीके से निर्माण कराया था। जिस पर कार्रवाई की जा रही है, मुंबई में काला घोड़ा शूटआउट से ही राजेश यादव चर्चा में आए हुए थे। उसके बाद प्रयागराज में आकर रंगदारी मांगने ,हत्या की कोशिश जैसी कई  घटनाओं में सनलिप्त होने का इल्जाम पुलिस द्वारा लगाया गया था।

राजेश यादव पर दर्ज हैं 26 मुकदमें

माफियाओं के लिस्ट में शामिल  राजेश यादव अपराधी है। पिछले दो महीने से  उनके  विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। इसके बाद पुलिस उसकी गतिविधि से लेकर संपत्ति तक के बारे में जानकारी जुटाना शुरू कर दिया था। पुलिस रिकार्ड में झूंसी थाना क्षेत्र के नैका महीन गांव निवासी राजेश यादव उर्फ मामा के खिलाफ कर्नलगंज, धूमनगंज, कैंट, सिविल लाइंस, शिवकुटी, जार्जटाउन, नैनी और झूंसी थाने में 26 मुकदमे दर्ज हैं। इसमें हत्या का प्रयास, जानलेवा हमला, गैंगस्टर समेत कई मुकदमे हैं।

फरार चल रहा है राजेश यादव

राजेश यादव लंबे समय से घर से भागा हुआ है। पुलिस अधिकारियों का दावा है कि राजेश यादव भी दूसरे माफिया की तरह अवैध तरीके से प्रापर्टी डीलिंग करता रहा है। अपराध के जरिए उसने भी काफी चल और अचल संपत्ति अर्जित की है। वह लंबे समय से घर से भागा हुआ है। और मीरजापुर, वाराणसी, जौनपुर समेत अन्य स्थानों पर साथियों के साथ चोरी-छिपे रहता है। पुलिस का कहना है कि झूंसी और सरायइनायत में उसकी काफी प्रापर्टी है। कुछ उसके नाम है तो कुछ संपत्ति घरवालों के नाम पर दर्ज है। फिलहाल पुलिस ने अब राजेश के विरुद्ध भी शिकंजा कसने की तैयारी शुरू कर दी है।     



Popular posts from this blog

'चिंटू जिया' पर लहालोट हुए पूर्वांचल के किसान

चकिया में देवर ने भाभी के लाखों के गहने और नगदी उड़ाये, आईपीएल में सट्टे व गलत आदतों में किया खर्च, एएसपी ने किया खुलासा

नलकूप के नाली पर पीडब्लूडी विभाग ने किया अतिक्रमण, सड़क निर्माण में धांधली की सूचना मिलते ही जांच करने पहुंचे सीडीओ, जमकर लगाई फटकार