आरोग्य सेतू ऐप किसने बनाया एनआईसी को नहीं पता, सूचना आयोग ने मंत्रालय सहित कई को भेजा नोटिस





नई दिल्ली। कोरोना काल में आरोग्य सेतु ऐप की अहमियत का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि हवाई यात्राओं से लेकर मेट्रो और ट्रेनों में सफर से पहले इसे जांचा जाता है। प्रधानमंत्री मोदी मोदी बार-बार लोगों से इस ऐप को डाउनलोड करने की अपील कर चुके हैं।
अब इसे लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। सरकारी वेबसाइटों को डिजाइन करने वाले नैशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर ने कहा है कि आरोग्य सेतु ऐप को किसने बनाया, यह उसे पता ही नहीं है। इसे लेकर चीफ इन्फॉर्मेशन कमिशन ने एनआईसी को फटकार लगाया है और तमाम चीफ पब्लिक इन्फॉर्मेशन आॅफिसरों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। एनआईसी मिनिस्ट्री आॅफ इलेक्ट्रॉनिक्स के तहत आती है। चीफ इन्फॉर्मेशन कमिशन ने तमाम विभागों के चीफ पब्लिक इन्फॉर्मेशन आॅफिसरों को नोटिस जारी कर उनसे कहा है कि वे आरोग्य सेतु ऐप के बारे में पूछे गए आरटीआई सवालों पर जवाब दें। साथ में यह ताकीद भी दी है कि सवालों के जवाब टालमटोल वाला नहीं होने चाहिए। दरअसल सौरव दास नाम के एक शख्स ने चीफ इन्फॉर्मेशन कमिशन में शिकायत दर्ज कराई थी।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल