गंगा नहाने जा रही महिलाओं को ट्रक ने कुचला, तीन मौत, पांच घायल

आक्रोशित ग्रामीणों ने किया चक्का जाम, प्रशासन रही हलकान  



अजय सिंह उर्फ राजू

जमानियां/गाजीपुर। कोतवाली क्षेत्र के मंझरिया गांव में गंगा स्नान करने जा रही आठ महिलाओं को तेज रफ्तार ट्रक ने कुचल दिया। इस हादसे में तीन की मौत हो गई। पांच घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इधर घटना से आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम कर दिया। सूचना पर पहुंचे एसडीएम ने लोगों को समझा बुझाकर किसी तरह जाम समाप्त कराया। पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और ट्रक के साथ चालक को गिरफ्तार कर पूछताछ में जुट गई है। 

मंझरिया गांव निवासी ज्योतिया देवी (58 वर्ष), किरन 14 पुत्री स्व श्याम सुन्दर (14 वर्ष), मीरा उर्फ रीना देवी पत्नी वकील यादव (35 वर्ष), भागमनी देवी पत्नी उदय नरायन यादव (55 वर्ष), राधिका पत्नी लक्ष्मी यादव (45 वर्ष) अंजली यादव पुत्री संजय यादव (15 वर्ष), मौसम यादव पुत्री संतोष यादव(18 वर्ष) व चुलबुली पुत्री संजय यादव (14 वर्ष) मलमास पर्व के अंतिम दिन गंगा नहाने जा रही थी। 



गांव के पास एन एच के किनारे खड़ी होकर अन्य साथी महिलाओं का इंतजार कर रही थी कि अचानक सैयदराजा की तरफ जिला मुख्यालय आ रही तेज रफ्तार ट्रक ने इन्हें कुचल दिया। जिसमें ज्योतिया देवी (58 वर्ष) व किरन 14 की दर्दनाक मौत हो गई। मीरा उर्फ रीना देवी की ट्रामा सेन्टर ले जाते वक्त मौत हो गई। जबकि पांच गंभीर रूप से घायल है। 

जबकि पांच अन्य घायल भागमनी देवी, राधिका, अंजली यादव , मौसम यादव व चुलबुली को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं पुलिस ने ट्रक को कब्जे में लेकर चालक को गिरफ्तार कर लिया है। इधर घटना के बाद लोगों ने सुबह 6 बजे एन एच 97 (24) को जाम कर दिया। 

सूचना पर पहुचे एसडीएम सत्यप्रिय सिंह व सीओ सुरेश शर्मा ने जाम छुड़ाने का काफी प्रयास किया। तब जाकर साढ़े आठ बजे ग्रामीणो की मांगों को पूरा कराने का प्रयास किया जायेगा के लिखित आश्वासन पर जाम समाप्त हुआ। इस मौके पर तहसीलदार आलोक कुमार, कोतवाल राजीव कुमार सिंह सहित सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस बल तैनात रहे।  

ग्रामीणों ने उठाई मांग, मृतक परिवार को  मिले 20 लाख

गाजीपुर। ग्रामीणों ने एसडीएम से मांग किया कि मृतक के परिवार को शासन से 20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता व परिवार के एक लोग को सरकारी नौकरी व आवास दिलाई जाय। घायलों के इलाज के लिए उनके परिवार को तत्काल 2 लाख रुपये की सहायता दिलाई जाय। ओवर लोड ट्रकों पर रोक लगाई जाय व भोर में 3 बजे से सुबह 6 बजे तक व शाम 5 बजे से रात 9 बजे तक नो इंट्री लगाई जाय तथा घटनास्थल के पास तत्काल स्पीड ब्रेकर बनवाया जाय। जिस पर प्रशासन ने लिखित आश्वासन दिया कि आपके मांग पर गंभीरता से विचार करते हुए उच्चाधिकारियों तक आपकी जायज मांगो को पूरा करने का प्रयास किया जायेगा।



 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल